Ravindra Jadeja: I was almost out for 15 months, I wanted to play white-ball cricket
Ravindra Jadeja (File Photo) © AFP

एशिया कप फाइनल मुकाबले में रविंद्र जडेजा ने भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई। 37वें ओवर में महेंद्र सिंह धोनी के आउट होने के बाद जडेजा बल्‍लेबाजी के लिए आए। उस वक्‍त भारत का स्‍कोर 160/5 था। भारत लक्ष्‍य से 63 रन दूर था। पहले केदार जाधव और फिर भुवनेश्‍वर कुमार के साथ जडेजा ने जिम्‍मेदारी भरी पारी खेली और मैच को आखिरी ओवर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। 33 गेंद पर 23 रन बनाने के बाद वो रुबेल हुसैन की गेंद पर मुश्फिकुर रहीम के हाथों कैच आउट हुए।

पोस्‍ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान जडेजा ने केविन पीटरसन से बात की। उन्‍होंने कहा, “मैं वनडे क्रिकेट से पिछले 15 महीने से बाहर हूं। मैं सफेद गेंद क्रिकेट खेलना चाहता हूं। मैं बस अपने खेल में सुधार लाते हुए खुद को साबित करना चाहता था। जब भी मौका मिले आपको खुद को साबित करने की जरूरत होती है। आपको ये दिखाना होगा कि आपमें काबिलियत है, तभी टीम में जगह मिलेगी। मैंने बस अपना स्‍वाभाविक खेल खेला। सही अवसर पर गेंद पर शॉट खेले और हम अपने देश के लिए मैच जीतने में कामयाब रहे।”

कुलदीव- मैंने फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में भी बनाए हैं रन

49वें ओवर की पहली गेंद पर भुवनेश्‍वर कुमार के आउट होने के बाद कुलदीप यादव मैदान में आए और वो केदार जाधव के साथ मिलकर टीम को जीत दिलाने के बाद ही वापस पवेलियन लौटे। कुलदीप ने कहा, “जाधव ने मुझे कहा था कि चोट के कारण मुझे रन लेने में परेशानी हो रही है इसलिए भागते वक्‍त थोड़ा सावधान रहना। पिछले मैच के मुकाबले फाइनल में बल्‍लेबाजी के लिए विकेट अच्‍छी थी। जितना आप इस पिच पर खेलते हो उतना ही अच्‍छा प्रदर्शन करने लगते हो। मैंने फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में भी काफी रन बनाए हैं। जो मुझे आलराउंडर के रूप में गिना जा सकता है।”