पूर्व भारतीय बल्लेबाज और क्रिकेट कमेंटेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने एक बार फिर टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी (Ravindra Jadeja) पर अपनी राय रखी है. वर्ल्ड कप 2019 से ही यह ऑलराउंडर खिलाड़ी मांजरेकर के निशाने पर हैं. मांजरेकर सोनी पिक्चर्स नेटवर्क पर कमेंट्री कर रहे हैं. इस दौरान वह हिंदी चैनल पर पूर्व भारतीय विस्फोटक ओपनिंग बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) के साथ कमेंट्री कर रहे थे, तब उन्होंने एक बार फिर कहा कि जडेजा वनडे टीम में डिजर्व नहीं करते हैं.

यह दोनों क्रिकेट एक्सपर्ट्स जब कमेंट्री कर रहे थे तब रवींद्र जडेजा शिखर धवन के आउट होने के बाद जडेजा बैटिंग पर आए थे. इस दौरान सहवाग ने मांजरेकर से मजे लेना शुरू किया और वह बार-बार जडेजा को मांजरेकर का फेवरेट खिलाड़ी पुकार रहे थे. इस बार मांजरेकर ने वीरू से पूछ लिया कि आप बार-बार जडेजा को मेरा फेवरेट खिलाड़ी क्यों बोल रहे हैं.

इस पर सहवान ने उन्हें वर्ल्ड कप 2019 का टि्वटर का लम्हा याद दिलाया, जब मांजरेकर और जडेजा एक-दूसरे को जवाब दे रहे थे. इसके बाद सहवाग ने बताया कि जडेजा कि टीम इंडिया में एंट्री उनके और गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के कहने पर हुई थी.

वीरू ने बताया, ‘वह चार दिवसीय क्रिकेट (रणजी ट्रॉफी) में तिहरा शतक भी जमा चुके थे और ढेर सारे विकेट भी निकालते थे. तब मैंने और गौतम गंभीर ने एमएस (MS Dhoni) से कहा था कि यह खिलाड़ी आपको टेस्ट मैच प्रतिदिन करीब 25 ओवर बॉलिंग करके भी देगा एक-दो विकेट भी निकालेगा और नंबर 7 कुछ उपयोगी रन भी बनाएगा. जडेजा हमारे तो फेवरेट जरूर हैं.’

इस पर मांजरेकर ने कहा, ‘बिल्कुल वह टेस्ट क्रिकेट खेलने के हकदार हैं. लेकिन मैं वनडे क्रिकेट में उन्हें खिलाने के पक्ष में नहीं हूं.’ मांजरेकर ने अपनी बात को साबित करने के लिए आंकड़ों का भी जिक्र किया. इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ‘आप पिछले 22 वनडे मैचों में उनका परफॉर्मेंस देख लीजिए उनके विकेट भी सिर्फ 18 ही हैं और बैटिंग में भी उन्होंने कोई खास काम नहीं किया है.’

मांजरेकर ने यहां यह भी कहा कि वह (जडेजा) मेरे भी बहुत फेवरेट रहे हैं. उन्होंने घरेलू क्रिकेट में तिहरे शतक भी जड़े हैं और विकेट भी लिए हैं. लेकिन वनडे क्रिकेट में वह अपनी जगह को जस्टिफाइ नहीं कर पाए हैं. इसलिए मैं मानता हूं कि वह वनडे टीम में खेलने के लिए डिजर्व नहीं करते हैं. टेस्ट टीम में बिल्कुल दावेदार हैं.

इससे पहले मांजरेकर ने 2019 वर्ल्ड कप के दौरान भी इस युवा ऑलराउंडर की आलोचना की थी. 55 वर्षीय मांजरेकर ने तब ट्वीट कर कहा था, ‘टुकड़ों में प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के बजाए वह स्पेशलिस्ट गेंदबाजों/बल्लेबाजों को टीम में रखना पसंद करेंगे.’ इसके बाद बीसीसीआई ने इसी साल मांजरेकर को कमेंट्री पैनल से बिना कारण बताए हटा दिया था. तब जानकार जडेजा की आलोचना को ही इसका कारण मान रहे थे. हालांकि ऑस्ट्रेलिया सीरीज से एक बार फिर कमेंट्री पैनल में उनकी वापसी हुई है.