टीम इंडिया © Getty Images
टीम इंडिया © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों के कप्तान एमएस धोनी इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले बोर्ड प्रेजीडेंट इलेवन की ओर से मेहमान इंग्लैंड टीम के खिलाफ दो प्रेक्टिश मैच खेलेंगे। भारतीय टीम को 15 जनवरी से शुरू होने वाली लिमिटेड ओवर सीरीज में तीन वनडे और तीन टी20I मैच खेलने हैं। चयन समिति आर. अश्विन,जयंत यादव और रविंद्र जडेजा को इस सीरीज से आराम दे सकती है। भारतीय टीम को अपने घर में ही अगले साल बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट खेलने हैं। ऐसे में चयनकर्ता कोई जोखिम नहीं लेना चाहते। यह पता चला है कि वॉर्म अप मैचों में अपनी उपलब्धता के विषय में धोनी ने बीसीसीआई अधिकारियों को सूचित किया है। 35 साल के एमएस धोनी टेस्ट क्रिकेट से दो साल पहले संन्यास ले चुके हैं और अब वह टीम इंडिया की टी20I और वनडे की अगुआई करते हैं। धोनी झारखंड टीम के मेंटोर रहे हैं लेकिन इस सीजन में वह अपने टीम के साथ नहीं गए।

शिखर धवन और करुण नायर भी वॉर्म अप मैचों में भाग ले सकते हैं। धवन का न्यूजीलैंड सीरीज के दौरान अंगूठा चोटिल हो गया था। हालांकि, पिछले दिनों वह अपने राज्य दिल्ली की ओर से रणजी मैच खेलते नजर आए थे। लेकिन चयनकर्ताओं को उनकी फिटनेस देखनी होगी। संभावनाएं ये भी हैं कि चयनकर्ता करुण नायर को जगह दें, जिन्होंने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में तेजतर्रार तिहरा शतक जड़ दिया था। मनीष पांडे को भी इन प्रेक्टिश मैचों में खेलने का मौका मिलेगा। भारतीय टीम के चयनकर्ताओं के चेयरमेन एमएसके प्रसाद यह पहले ही कह चुके हैं कि खिलाड़ियों को पर्याप्त मौके मिलेंगे और नए खिलाड़ियों को तराशा जाएगा। [ये भी पढ़ें: पंकज शॉ ने खेली रिकॉर्डतोड़ पारी बना डाले 413 रन]

ये भी सुनने को मिला है कि अजिंक्य रहाणे दूसरा वॉर्म अप मैच खेलना चाहते हैं। लेकिन चयनकर्ता उनको लेकर जोखिम नहीं लेना चाहते। रहाणे इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान अपनी अंगुली चोटिल कर बैठे थे। वहीं रोहित शर्मा की बात करें तो वह फिट नहीं हुए हैं और हो सकता है कि वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए भी उपलब्ध न हों। सूत्रों के मुताबिक शर्मा मार्च के अंत तक फिट हो जाएंगे। माना जा रहा है कि रोहित शर्मा क फिट होने में 12 सप्ताह लग जाएंगे।