Ravindra Jadeja set to miss T20 World Cup as he will undergo knee surgery
BCCI

एशिया कप के बीच भारत के लिए एक बुरी खबर आई है। भारत के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा T20 वर्ल्ड कप का हिस्सा नहीं होंगे क्योंकि उनकी घुटने की सर्जरी होनी है। बता दें, BCCI ने एक दिन पहले ही रवींद्र जडेजा के एशिया कप से बाहर होने का खबर दी थी। BCCI ने बताया था कि जडेजा के दाहिने घुटने में चोट हैं और वह एशिया कप से बाकी के मैचों से बाहर हो गये हैं।

ऑस्ट्रेलिया में होने वाला T20 वर्ल्ड कप अब ज्यादा दूर नहीं है। ऐसे में जडेजा का टूर्नामेंट से बाहर होना टीम इंडिया के लिए बहुत बड़ा झटका है। जडेजा बहुत अहम खिलाड़ी हैं और उनकी कमी को वर्ल्ड कप में भरना किसी भी ऑलराउंडर के लिए मुश्किल होगा।

ऐसा बताया जा रहा है कि जडेजा की घुटने की चोट काफी गंभीर है और उनकी वापसी को लेकर फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है। जडेजा के घुटने की बड़ी सर्जरी होगी जिसके कारण उन्हें लंबे समय के लिए मैदान से दूर रहना पड़ सकता है।

बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘‘जडेजा की दाहिने पैर के घुटने की चोट काफी गंभीर है। उन्हें एक बड़ी सर्जरी करानी होगी और वह अनिश्चित समय तक क्रिकेट से बाहर रहेंगे। इस समय अगर राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) की चिकित्सा टीम के आकलन को देखा जाये तो उनकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वापसी के लिये कोई समयसीमा नहीं दी जा सकती। ’’

अभी पुष्टि नहीं की जा सकती कि यह ‘एंटीरियर क्रुसिएट लिगामेंट (एसीएल)’का मामला है जिससे उबरने में छह महीने से ज्यादा का समय लग सकता है। लेकिन कुछ हद तक कहा जा सकता है कि जडेजा कम से कम तीन महीनों के लिये खेल से बाहर रहेंगे।

यह भी पढ़ें- India vs Pakistan Next Match, Live Streaming: जानिए कब, कहां और कैसे देखें भारत-पाकिस्तान मैच

यह समझा जा सकता है कि जडेजा के घुटने में काफी लंबे समय से समस्या रही है और पिछले एक साल को देखें तो वह खुद को सभी प्रारूपों में बल्लेबाजी आल राउंडर के रूप में बदल रहे हैं जिसमें उनकी बायें हाथ की स्पिन उनकी मुख्य भूमिका से दूसरे कौशल में तब्दील हो रही है।

माना जा रहा है कि गेंदबाजी के समय उनके फ्रंट फुट को रखने के दौरान उनके दाहिने घुटने पर दबाव पड़ता है। अपने सीनियर करियर (घरेलू और अंतरराष्ट्रीय) में जडेजा ने सभी प्रारूपों में करीब 630 मैचों में 7000 से ज्यादा ओवर गेंदबाजी कर 897 विकेट झटके हैं जिसमें घरेलू प्रथम श्रेणी, लिस्ट ए और आईपीएल मैच शामिल हैं। सीनियर स्तर पर उन्होंने 13,000 रन बनाये हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने के लिये उन्हें काफी समय लगेगा क्योंकि उन्हें सर्जरी के बाद कड़े ‘रिहैब’ से भी गुजरना होगा।

एजेंसी- पीटीआई भाषा

यह भी पढ़ें- AUS vs ZIM: मिचेल स्टार्क ने रचा इतिहास, तोड़ा 23 साल पुराना सकलैन मुश्ताक का ये बड़ा रिकॉर्ड