मोईन अली © Getty Images
मोईन अली © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली एशेज सीरीज में अब बस कुछ ही समय बाकी रह गया है। ऐसे में इस सीरीज को लेकर बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है। इंग्लैंड के होम सीजन में बेहतरीन प्रर्दशन करने वाले मोइन अली का कहना है कि वो अगले महीने से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू होने वाली एशेज सीरीज में ‘बाउंसर’ की चुनौती के लिए तैयार हैं। ये भी पढ़ें: अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया को 242 पर रोका, भारत को मिला 243 का लक्ष्य

ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत में मोईन ने कहा, “इस पर (शॉर्ट पिच गेंदों) मैं काम कर रहा हूं। मेरा मानना है जब आप बल्लेबाजी करने जाते हैं तो वही अच्छी स्थिति होती है। मैं जिस भी नंबर पर बल्लेबाजी करने जाऊं, मैं अपनी तरह खेल सकता हूं। मैं जिस तरह खेलता हूं उसमें मैं थोड़ा बदलाव करना चाहता हूं, लेकिन मानसिकता को लेकर मैं सिर्फ जाकर अपना खेल खेलने की सोच रखना चाहता हूं। मैंने उनके (आस्ट्रेलिया के) खिलाफ पहले भी बल्लेबाजी की है। मैं जल्दी कुछ नहीं कहना चाहता लेकिन मैं पूरी तरह से तैयार हूं।”

मोइन ने 2015 में एशेज सीरीज में अहम रोल निभाया था। लेकिन, शॉर्ट गेंदों को उनकी कमजोरी माना जाता है। मोइन को वेस्टइंडीज के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई वनडे सीरीज में ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया था। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई सीरीज में भी वो इंग्लैंड की तरफ से चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 250 रन बनाने वाले और 25 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी बने थे।

मोइन ने आगे कहा, “वो बाउंसर डालने की कोशिश करेंगे, लेकिन जब भी शॉर्ट गेंदें आती हैं आपके पास रन करने का मौका होता है। मैं इस पर कड़ी मेहनत करूंगा। मैं एशेज के लिए उत्साहित हूं।” इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज का पहला टेस्ट मैच 23 नवंबर से ब्रिस्बेन में खेला जाएगा। इसके बाद दूसरा टेस्ट 2 दिसंबर से एडिलेड में खेला जाएगा। एडिलेड में खेला जाने वाला टेस्ट डे-नाइट होगा। ये पहली बार होगा जब एझेस सीरीज में डे-नाइट खेला जाएगा। सीरीज का तीसरा मुकाबला 14 दिसंबर से पर्थ में खेला जाएगा। चौथा मैच 26 दिसंबर से मेलबर्न में और पांचवां मुकाबला 4 जनवरी से सिडनी में खेला जाएगा।