न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC Final) में टीम इंडिया को मिली हार के बाद भारतीय फैंस ने सोशल मीडिया के जरिए विराट कोहली (Virat Kohli) को कप्तान पद से हटाए जाने की मांग की है। हालांकि पूर्व इंग्लिश स्पिनर ग्रीम स्वान का मानना है कि कोहली को कप्तान पद से हटाना क्रिकेट के लिए अपराध होगा।

पूर्व स्पिनर का मानना है कि भले ही टीम इंडिया विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल न्यूजीलैंड से हार गया था, इस बात को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है कि टीम के फाइनल में पहुंचने का कारण कोहली की निडर कप्तानी है।

स्पोर्ट्सकीड़ा से बातचीत में स्वान ने कहा, “विराट कोहली एक चैंपियन और सुपरस्टार हैं। उन्होंने भारतीय टीम में ताकत जोड़ी है। जब भी कोई विकेट गिरता है तो आपको केवल उनका जुनून देखना होता है। जब कोई मिसफील्ड करता है तब उनका चेहरा देखो। वो अपने काम के प्रति 100 प्रतिशत प्रतिबद्ध है।”

उन्होंने कहा, “जब आपके पास इतना अच्छा कप्तान है तो ऐसे में विराट कोहली से छुटकारा पाना क्रिकेट के खिलाफ एक अपराध होगा। मुझे नहीं लगता कि उन्हें कहीं और देखना चाहिए। भारत वो मैच हारा क्योंकि वो इस टेस्ट मैच के लिए कम तैयार थे।”

डब्ल्यूटीसी फाइनल के शुरू होने से पहले, भारतीय क्रिकेटर आखिरी बार इंडियन प्रीमियर लीग में खेले थे। यानि कि टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने रेड बॉल से खास अभ्यास नहीं किया था।

स्वान ने कहा, “भारत ने साउथम्प्टन में सिर्फ नेट अभ्यास किया था। अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेलने की तरह टेस्ट मैच खेलने से अच्छी और कोई तैयारी नहीं है। इसलिए न्यूजीलैंड के पक्ष में सब कुछ था। ये मैच के पांच दिनों के दौरान भी दिखा, जहां भारतीय टीम, खासकर कि उनके बल्लेबाज कमजोर दिखे।”