© Getty
© Getty

कबीर खान की नई फिल्म टीम इंडिया की ऐतिहासिक 1983 वर्ल्ड कप जीत पर बनने जा रही है। इस फिल्म में टीम इंडिया के कप्तान कपिल देव का किरदार रणवीर सिंह निभाएंगे। अब फिल्ममेकर ने बुधवार को (आज) 1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम इंडिया का रीयूनियन रखा है। यह ईवेंट मुंबई में होगा, इस ईवेंट में ऐतिहासिक मैच में खेले सभी खिलाड़ी मौजूद रहेंगे और इस दौरान फिल्म की आधिकारिक रूप से घोषणा भी की जाएगी। इस फिल्म को को-प्रोड्यूस फैंटम फिल्म, विब्रि मीडिया की विष्णु वर्धन इंदुरी, रिलायंस इंटरटेनमेंट और कबीर खान करेंगे।

कपिल देव, मोहिंदर अमरनाथ, कीर्ति आजाद, रोजर बिन्नी, एसएस मदनलाल, संदीप पाटिल, बलविंदर सिंह संधू, कृष्णमाचारी श्रीकांत, यशपाल शर्मा, दिलीप वेंगसरकर और सुनील वालसन इस फिल्म के लॉन्च के दौरान मौजूद रहेंगे। टीम मैनेजर पीआर मान सिंह भी इस दौरान मौजूद रहेंगे। फिल्ममेकर ने इस दौरान पूरी टीम का सम्मान करने की योजना बनाई है। हाल ही में रनवीर सिंह द्वारा कपिल देव का किरदार निभाए जाने के बारे में बातचीत करते हुए कबीर ने कहा, “जब एक स्कूलबॉय के रूप में मैंने टीम इंडिया को 1983 वर्ल्ड कप जीतते हुए देखा था। मुझे कोई भी आइडिया नहीं था कि उस दिन के बाद से भारत में क्रिकेट हमेशा के लिए बदल जाएगा।”

उन्होंने आगे कहा, “यह फिल्म यह उस जीत की यात्रा, उस भारतीय युवा टीम की गजब की ऊर्जा और जुनून से भरी हुई है। यह सबसे उत्साहित करने वाली कहानी है जिसमे मैंने काम किया है। रणवीर फिल्म में कपिल का किरदार निभा रहे हैं, यह अपने आपमें बेहतरीन है। ईमानदारी से कहूं तो जबसे मैंने स्क्रिप्ट को फाइनल किया था, मैंने उनके अलावा किसी और को इस रोल के लिए नहीं देखा।”  ये भी पढ़ें: बल्ला बदलने की वजह से टीम इंडिया के खिलाफ फेल हो रहे हैं डेविड वॉर्नर?

रणवीर सिंह के पहले फिल्मों में टीम इंडिया के खिलाड़ियों का किरदार सुशांत सिंह राजपूत, इमरान हाशमी निभा चुके हैं। ईवेंट के लिए भेजे गए आमंत्रण को खासतौर पर डिजाइन किया गया है, इसमें बैट और गेंद शामिल है। जिस बैट को आमंत्रण के तौर पर भेजा गया है उसे 1983 वर्ल्ड कप के चैंपियंस के द्वारा साइन किया गया है और साथ ही टैगलाइन दी गई है, “83 जहां यह सब शुरू हुआ।”

1983 टाइटल वाली यह फिल्म टीम इंडिया के पहले क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत पर आधारित है। टीम इंडिया ने पहला वर्ल्ड कप ही नहीं जीता, बल्कि उन्होंने वेस्टइंडीज का सीमित ओवर क्रिकेट में प्रभुत्व को भी खत्म कर दिया। गौरतलब है कि वेस्टइंडीज ने इसके पहले लगातार दो वर्ल्ड कप (1975, 1979) जीते थे। इस फिल्म की स्क्रिप्ट संजय पूरन सिंह चौहान ने लिखी है।