गाबा टेस्‍ट में भारत ने मेजबानों पर जीत दर्ज दर्ज कर इतिहास रख दिया. ऑस्‍ट्रेलिया को 32 साल बाद इस मैदान पर हार का मुंह देखना पड़ा. इस जीत के साथ ही भारत लगातार दूसरी बार मेजबानों को उन्‍हीं के घर पर टेस्‍ट सीरीज में जीत दर्ज करने में कामयाब रहा. जीत के जनक रिषभ पंत (Rishabh Pant) ने अपनी मन की दुविधा पर खुलकर बात की.

आईपीएल में ज्‍यादा प्रभावशाली प्रदर्शन नहीं कर पाने के कारण रिषभ पंत (Rishabh Pant) को ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर सीमित ओवरों की सीरीज में जगह नहीं दी गई थी. इसके बाद पहले टेस्‍ट में भी पंत को नहीं खिलाया गया.

रिषभ पंत (Rishabh Pant) ने स्‍वदेश लौटने के बाद स्‍पोर्ट्स तक से बातचीत के दौरान कहा, “मैं हर दिन इसकी गरमाहट को महसूस कर रहा था. ये खेल का हिस्‍सा है. व्‍यक्तिगत तौर पर आपको खुद पर विश्‍वास करने की जरूरत है. मैं खुशकिस्‍मत था कि मुरे आसपास कुछ लोग थे जिन्‍होंने मुझे कहा कि खुद पर विश्‍वास बनाए रखो और निरंतर मेहनत करते रहो.”

“मैंने मुश्किल वक्‍त से ये ही सीखा है कि अगर आप आगे बढ़ते रहते हैं तो खुद में सुधार कर पाते हैं. अपने खेल पर फोकस करके रखो और अन्‍य किसी चीज पर ध्‍यान मत दो. सोशल मीडिया के चलते आपके लिए बाहरी आवाजों को बंद करना आसान नहीं है लेकिन मैंने खुद को इससे अलग किया.”

रिषभ पंत (Rishabh Pant) ने आगे कहा, “जब आप अच्‍छा खेलते हो तो लोग आपकी तारीफ करते हैं और जब आप ऐसा नहीं करते तो आलोचना होती है. आज के वक्‍त में यह क्रिकेटर्स के जीवन का एक हिस्‍सा है.”