ऋषभ पंत  © AFP
ऋषभ पंत © AFP

टीम इंडिया से बाहर चल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने आखिरकार अपनी लगातार असफलता का सिलसिला तोड़ते हुए शानदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया है। उन्होंने रणजी ट्रॉफी के राउंड 6 में दिल्ली की ओर से खेलते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ 99 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 110 गेंदों का सामना किया। इस पारी में उन्होंने 8 चौके और 6 छक्के लगाए। इस तरह से कह सकते हैं कि पंत अपने चिरपरिचित अंदाज में बल्लेबाजी करने नजर आए।

वैसे खराब बात ये रहा कि पंत शतक बनाने से चूक गए। हालांकि, पंत की कसर दूसरे छोर से नितीश राणा ने पूरी कर दी और अब वह शतक बनाकर खेल रहे हैं। पंत और राणा की अच्छी पारियों की बदौलत दिल्ली ने खबर लिखे जाने तक 4 विकेट पर 248 रनों रन बना लिए हैं। नितीश राणा 105 और मिलिंद कुमार 3 रन बनाकर खेल रहे हैं। इसके पहले गौतम गंभीर (1), ध्रुव शोरे और अनुज रावत 20 रन बनाकर आउट हो गए।

एमएस धोनी के उत्तराधिकारी माने जाने वाले पंत का बल्ला इस रणजी सीजन में अबतक खामोश चल रहा था और ये पहली बार है जब उनके बल्ले से कोई बड़ी पारी देखने को मिली है। जाहिर है कि उन्हें इससे आत्मविश्वास जरूर मिला होगा। पंत का ये पिछले 11 मैचों में पहला अर्धशतक है। पंत ने पिछले साल रणजी ट्रॉफी में धमाकेदार बल्लेबाज करते हुए टीम इंडिया में जगह बनाई थी। वह भारत की ओर से टी20 क्रिकेट खेल चुके हैं।

ऋषभ पंत ने खेली धमाकेदार पारी, लगाए 6 छक्के
ऋषभ पंत ने खेली धमाकेदार पारी, लगाए 6 छक्के
“][/link-to-post]

उन्होंने 2 मैचों में 43 रन बनाए हैं जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 38 रहा है। वह आखिरी बार जुलाई 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलते नजर आए थे। इसके बाद से ही वह खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। बहरहाल, देर आई लेकिन दुरुस्त आई। पंत अब यहां से अपनी लय नहीं बिगड़ने देना चाहेंगे।