Rishabh Pant needs to sort out his game plan a little more, says batting Vikram Rathour
Rishabh Pant (File Photo) @ AFP

भारतीय क्रिकेट टीम के नये बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने मंगलवार को कहा कि टीम के युवाओं को स्पष्ट संदेश दे दिया गया है कि वे ‘बेपरवाह खेल और लापरवाह खेल’ के बीच अंतर है और उन्हें उसे समझना होगा।

यह संदेश विशेषकर रिषभ पंत जैसे युवाओं को दिया गया है जिनकी लापरवाह क्रिकेट के लिये लगातार आलोचना होती रही है।

पढ़ें:- बेन स्‍टोक्‍स के जन्‍म से पहले ही उनके भाई-बहन की पिता ने कर दी थी हत्‍या

राठौड़ ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘कभी हम तकनीक पर जोर देते हैं। इस स्तर पर मानसिकता अहम होती है। अपनी रणनीति सही तरह से लागू करनी होती है। जहां तक रिषभ का सवाल है वह बेजोड़ खिलाड़ी है, उसे अपनी रणनीति को स्पष्ट करना होगा। उसे अपनी क्रिकेट में कुछ अनुशासन दिखाना होगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘सभी युवा खिलाड़ियों को पता होना चाहिए कि बेपरवाह क्रिकेट और लापरवाह क्रिकेट में अंतर होता है। टीम प्रबंधन जो आपको कह रहा है वह बेपरवाह यानि निडर होकर क्रिकेट खेलना है। आपकी स्पष्ट रणनीति और सोच होनी चाहिए लेकिन इसके साथ ही आप लापरवाह नहीं हो सकते हो। ’’

कप्तान विराट कोहली ने हाल में कहा था कि युवाओं को उच्चस्तर पर पांच से अधिक अवसरों की उम्मीद नहीं करनी चाहिए जिस पर राठौड़ टिप्पणी कर रहे थे।

पढ़ें:- दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मोहाली टी20 में रिषभ पंत पर दबाव

राठौड़ ने कहा, ‘‘उन्होंने (कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री) पांच मैच कहा है लेकिन कोई संख्या तय नहीं है। उनके कहने का मतलब था कि आपको मौकों का फायदा उठाना चाहिए। वे (युवा) इतनी अधिक क्रिकेट खेल रहे हैं। वे अच्छा प्रदर्शन करके यहां तक पहुंचे हैं। मुझे नहीं लगता कि यह बड़ा मसला है। टीम उनका पूरा समर्थन करेगी।’’

पंत से की जा रही उम्मीदों के बारे में राठौड़ ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि वह नैसर्गिक शाॅट खेले। इससे ही वह खास बनता है। वह प्रभाव छोड़ने वाला खिलाड़ी है लेकिन इसके साथ ही लापरवाह नहीं हो सकते हो।’’

पढ़ें:- ‘जोफ्रा आर्चर ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज जिताने में मदद कर सकता है’

मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर की मध्यक्रम में वापसी के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘ये दोनों बहुत अच्छे क्रिकेटर हैं और उन्होंने घरेलू क्रिकेट में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। श्रेयस ने (वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में) अच्छा खेल दिखाया। मनीष पहले अच्छा प्रदर्शन करता रहा है और घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा खेल दिखाकर उसने वापसी की है। मुझे पूरा विश्वास है कि वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे। उन्हें बस अपने खेल में निरंतरता लाने की जरूरत है।’’