Rohit Sharma advised Rishabh Pant to be patient
रोहित शर्मा, रिषभ पंत और रवींद्र जडेजा (IANS)

लंबे समय संघर्ष करने के बाद अपने करियर के सर्वाच्च स्तर पर पहुंचे रोहित शर्मा ने युवा खिलाड़ी रिषभ पंत के प्रति सहानुभूति जताई है। रोहित ने लगातार आलोचनाओं का सामना करने वाले पंत को धैर्य रखने की सलाह दी।

पीटीआई को दिए इंटरव्यू में रोहित ने कहा, ‘‘मैं पंत को भी यही बता रहा था। वो सिर्फ 21 साल (22 साल) का है और लोग उसे हर मैंच में शतक बनाने और ऐसा-वैसा करने के लिए कह रहे हैं। मेरे कहने का मतलब है थोड़ा तो धीरज रखो। मैंने रिषभ से कहा कि एक दायरा बनाओ और सुनिश्चित करो कि कोई इसके अंदर नहीं आ पाए।

उप कप्तान ने आगे कहा, “लोग आपके बारे में बात करना चाहते हैं , उन्हें बाहर ऐसा करने दें और अपने दायरे के अंदर आप वह करें जो करना चाहते हैं। क्या पता इससे रिषभ की मदद हो। कम से कम इसने मेरे लिए काम किया।’’

रोहित बोले- मैं 22 या 23 साल का नहीं हूं जो मुझे बार-बार मौके मिलते रहेंगे

रोहित ने बताया कि कैसे पत्नी रितिका और बेटी समायरा के साथ समय बिताने से वो बाहर के लोगों की आवाज को खुद से दूर रख पाते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने (पत्नी और बेटी ने) मेरे जीवन को प्यार और खुशी से भर दिया है और मैं इसी में रहने का प्रयास करता हूं। यह नहीं सोचता कि कोई मेरे बारे में क्या टिप्पणी कर रहा है।’’

विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत की हार के बाद सीनियर खिलाड़ियों के अपने परिवारों को तय सीमा से अधिक इंग्लैंड में ठहराने का मुद्दा उठा और रोहित दुखी है कि परिवारों को इस मामले में घसीटा गया।