rohit sharma explained why he gave last over to avesh khan and not to bhuvenshwar kumar
Rohit Sharma on AVesh Khan

भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज के दूसरे मैच में हार का सामना करना पड़ा। भारत ने कुल 138 रन बनाए जिसके जवाब में कैरेबियाई टीम ने पांच विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। हार के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने माना कि बल्लेबाज बोर्ड पर ज्यादा रन नहीं टांग सके। इसके साथ ही आखिरी ओवर भुवनेश्वर कुमार के स्थान पर आवेश खान को देने के सवाल पर भी रोहित ने अपनी राय रखी।

रोहित ने कहा, ‘बोर्ड पर हमने ज्यादा रन नहीं बनाए। हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। पिच अच्छा खेल रही थी लेकिन हमने उसका पूरा फायदा नहीं उठाया। लेकिन यह हो सकता है। मैंने यह कई बार कहा है कि एक बल्लेबाजी यूनिट के तौर पर अलग आप कुछ नया प्रयोग कर रहे हैं तो यह हमेशा काम नहीं करता। हम अपनी गलतियों का आकलन कर उन्हें ठीक करने की कोशिश करेंगे।’

आखिरी ओवर में वेस्टइंडीज को 10 रन चाहिए थे और रोहित ने भुवनेश्वर कुमार के स्थान पर आवेश खान को गेंदबाजी सौंपी। यह युवा गेंदबाज इस जिम्मेदारी पर खरा नहीं उतर पाया और वेस्टइंडीज ने चार गेंद बाकी रहते ही मैच जीत लिया। रोहित के इस फैसले की आलोचना भी हुई लेकिन उन्होंने इसके पीछे की वजह बताई। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘हम सब जानते हैं कि भुवनेश्वर क्या कर सकते हैं। लेकिन आप आगर आवेश या अर्शदीप को मौका नहीं देंगे तो उन्हें कभी समझ नहीं आएगा कि भारत के लिए डेथ ओवर्स में गेंदबाजी करने के मायने क्या होते हैं। वह आईपीएल में ऐसा कर चुके हैं। यह सिर्फ एक मैच की बात है, उन खिलाड़ियों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। उन्हें सहयोग और अवसर की जरूरत है।’

रोहित ने अपनी टीम के जज्बे की भी तारीफ की। भारत ने 138 के स्कोर के लिए वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर तक बल्लेबाजी करवाई। रोहित ने कहा कि वह टीम के इस जुझारू जज्बे पर गर्व महसूस करते हैं।

रोहित ने कहा, ‘जब आप इतना कम स्कोर बचा रहे होते हैं तो यह 13-14 ओवर में मैच खत्म हो सकता है या आप उसे आखिरी ओवर तक लेकर जाना चाहते हैं। हमारी टीम लड़ती रही। विकेट लेना जरूरी था। जो योजना हमने बनाई थी, टीम मैदान पर उतरी और उसे अमल में लाई।’

रोहित अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से खुश नजर आए। उन्होंने कहा, ‘गेंदबाजों के प्रदर्शन से मैं खुश हूं लेकिन बल्लेबाजी को कुछ चीजों पर विचार करने की जरूरत है। मैं फिर कहता हूं कि अगर हम इसी अंदाज में बल्लेबाजी करेंगे क्योंकि हमें कुछ हासिल करना है। एकाध ऐसे नतीजों से घबराना नहीं चाहिए। एक हार के बाद भी हमारा अंदाज नहीं बदलेगा।’