Rohit Sharma: Had worst net session before unforgettable 264-run innings
रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ 264 रनों की पारी खेली © Getty Images

13 नवंबर 2014 को भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने वनडे क्रिकेट के इतिहास की सबसे बड़ी पारी खेली थी। श्रीलंका के खिलाफ ईडन गार्डन में खेले जा रहे चौथे वनडे मैच में रोहित ने 264 रन बनाकर दर्जनों रिकॉर्ड तोड़ दिए। उंगली में लगी चोट की वजह से टीम से बाहर हुए रोहित उस मैच से करीबन 3 महीने बाद मैदान पर वापसी कर रहे थे और किसी भी खिलाड़ी के लिए इससे बेहतर कमबैक पारी क्या हो सकती है। उस दिन मैदान पर हुई चौके-छक्कों की बरसात तो सभी ने देखी लेकिन उसके पीछे की कहानी काफी अलग है। रोहित शर्मा ने खुद ये कहा है कि उस मैच से एक दिन पहले उन्होंने अपने करियर का सबसे खराब नेट सेशन किया था।

एशिया कप अंडर19: नेपाल ने किया बड़ा उलटफेर, भारत को 19 रनों से हराया
एशिया कप अंडर19: नेपाल ने किया बड़ा उलटफेर, भारत को 19 रनों से हराया

रोहित ने आज अपने फेसबुक अकाउंट से एक वीडियो पर अपलोड कर अपनी ऐतिहासिक पारी के पीछे के कुछ राज बताए। उन्होंने कहा, “मुझे याद है कि मैं उस दिन सुबह उठा और नाश्ता करने के बाद बस में बैठा क्योंकि हमें उस दिन सुबह के नेट सेशन में भाग लेना था। मुझे ये भी याद है कि मैदान में पहुंचकर मुझे ठीक नहीं लग रहा था, मैं काफी लंबे समय से क्रिकेट नहीं खेला था लेकिन मुझे अपना आत्मविश्वास वापस लाना था। इसलिए मैने अपनी पुरानी अच्छी पारियों के बारे में सोचने की कोशिश की। मैं तीन महीने के बाद नेट पर बल्लेबाजी करने आया था। मेरा नेट सेशन बेहद खराब रहा, शायद मेरे करियर का सबसे खराब नेट सेशन था। मैं गेंद को बल्ले के बीच से हिट नहीं कर पा रहा था, मैने कई बाउंसर गेंद मिस की।”

रोहित ने ये भी बताया कि उस नेट सेशन में उन्होंने काफी कैच छोड़े। उन्होंने कहा, “मैने किसी तरह अपना बल्लेबाजी अभ्यास पूरा किया। इसके बाद मैने फील्डिंग का अभ्यास करना चाहा लेकिन मैं कैच पकड़ने में डर रहा था। जब आप उंगली की चोट से उबर कर आते हैं तो कैच लेना आसान नहीं होता है। मैं केवल अपनी उंगली को बचाने की कोशिश कर रहा था। इस वजह से मैं कैच छोड़ रहा था। मैने करीबन 70 कैच छोड़े। मैने नेट सेशन खत्म किया और होटल लौट गया। मैं कल के दिन के बारे में सोच रहा था क्योंकि तीन महीने बाद मैं खेलने वाला था। वो दिन मेरे लिए काफी अच्छा रहा।”

इस बात में कोई दोराय नहीं कि वो रोहित के करियर का सबसे बेहतरीन मैच था। रोहित वनडे में दो दोहरे शतक लगाने वाले दुनिया के अकेले बल्लेबाज हैं और आज भी जब वह किसी मैच में शतक बनाते हैं तो फैंस उनसे एक और दोहरे शतक की आस लगाने लगते हैं। ये पहली बार नहीं है जब रोहित ने चोट से उबरकर एक बढ़िया कमबैक किया है। पिछले साल जांघ की सर्जरी के बाद रोहित ने एक बार फिर कमबैक किया और पिछले एक साल में रोहित 5 शतक और 5 अर्धशतक की मदद से कुल 1076 रन बना चुके हैं। विराट कोहली के बाद वह साल 2017 में वनडे फॉर्मेट के दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं।