Rohit Sharma has shown lots of faith in me: Suryakumar Yadav
रोहित शर्मा, सूर्यकुमार यादव (Twitter)

इंडियन प्रीमियर लीग और घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छे प्रदर्शन के बाद आखिरकार सूर्यकुमार यादव को अपनी कड़ी मेहनत का ईनाम मिला, जब बीसीसीआई ने इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टी20 सीरीज के लिए उन्हें भारतीय स्क्वाड में जगह दी। यादव का कहना है कि उनकी सफलता के पीछे आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस और कप्तान रोहित शर्मा का बड़ा हाथ हैं।

साल 2018 में मुंबई टीम से जुड़े यादव ने लगातार दो सीजन (2018, 2019) 400 से ज्यादा रन बनाए और जल्द ही कप्तान रोहित, कीरोन पोलार्ड और हार्दिक पांड्या समेत टीम के प्रमुख बल्लेबाज बन गए। हालांकि उनके करियर में अहम मोड़ पिछले साल यूएई में आयोजित हुए आईपीएल के 13वें सीजन के दौरान आया जब उन्होंने रोहित और पोलार्ड की खराब फॉर्म के चलते मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजी क्रम जिम्मेदारी अपने हाथों में ली।

WATCH: RCB के डॉयरेक्टर हेसन ने बताया IPL 2021 नीलामी से पहले कैसे बनाई ग्लेन मैक्सवेल को खरीदने की योजना

यादव ने 40 की औसत और 145 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए आईपीएल 2020 में कुल 480 रन बनाए और मुंबई के लिए कई मैचविनिंग पारियां खेली।

टीम इंडिया में चुने जाने के बारे में इंडिया टुडे स्पोर्ट्स से बातचीत में यादव ने कहा, “मुंबई इंडियंस ने मेरा काफी समर्थन किया है। मुझे याद है जब मैं 2018 में कोलकाता से यहां आया था…..केकेआर में मेरी भूमिका एकदम अलग थी, मैं निचले क्रम में बल्लेबाजी करता था और फिनिशर की भूमिका निभाता था।”

उन्होंने कहा, “लेकिन मुंबई में, योजना एकदम साफ थी, वो चाहते थे कि मैं ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करूं, उन्होंने मुझे वो जिम्मेदारी दी, उन्होंने मुझे खुद को साबित करने की चुनौती दी। मैंने नंबर चार पर बल्लेबाजी करना शुरू किया, साथ ही मुझे सलामी बल्लेबाजी करने का मौका मिला।”

मैदान पर सिर्फ खिलाड़ी का प्रदर्शन मायने रखता है, वही दिलाता है उसे पहचान: Sachin Tendulkar

कोलकाता से मुंबई टीम में आने के बाद यादव ने शीर्ष और मध्यक्रम में बल्लेबाजी करनी शुरू की, जिस वजह से उन्हें लंबी पारियां खेलने का मौका मिला। इस फैसले के पीछे टीम मैनेजमेंट के साथ साथ कप्तान रोहित का हाथ था, जिसके लिए यादव ने उनका शुक्रिया किया।

उन्होंने कहा, “खिलाड़ियों के बारे में बात करूं तो शुरुआत कप्तान से करूंगा, उन्होंने (रोहित ने) हमेशा मुझ पर भरोसा दिखाया। उनकी तरफ से हमेशा सकारात्मक ऊर्जा मिली है और फिर हार्दिक, क्रुणाल और कीरोन पोलार्ड हैं, जो मेरे आसपास खेलते हैं।”