Rohit Sharma on debut series as opener: It’s been a great start, I don’t want to let it go
रोहित शर्मा (IANS)

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बतौर सलामी बल्लेबाज अपनी पहली ही टेस्ट सीरीज में प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब जीतकर रोहित शर्मा ने अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया है। सीरीज शुरू होने से पहले रोहित के टेस्ट में सलामी बल्लेबाजी करने को लेकर काफी चर्चा की जा रही थी लेकिन तीन मैचों 529 रन बनाकर इस भारतीय खिलाड़ी ने साबित किया कि वो केवल वनडे-टी20 में ही नहीं बल्कि टेस्ट में भी ओपनिंग कर सकते हैं।

रांची में पहला टेस्ट दोहरा शतक जड़ने वाले रोहित अपनी इस फॉर्म को जाने नहीं देना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “ये मेरे लिए शानदार शुरुआत रही है इसलिए मैं इसे जाने नहीं देना चाहता। इसकी शुरुआत साल 2013 में हुई थी, जब मैंने सीमित ओवर फॉर्मेट में भारत के लिए ओपनिंग करना शुरू किया था। मुझे समझ आया कि पारी की शुरुआत करने के लिए आपको अनुशासन की जरूरत होती है। एक बार आप टिक गए तो आप अपना खेल दिखा सकते हैं। मैंने यही किया, मैं कुछ चीजों को फॉलो करता हूं जो कि मुझे सफलता दिलाती हैं।”

भारत ने रांची टेस्ट जीता; पहली बार दक्षिण अफ्रीका को क्लीन स्वीप किया

रोहित ने आगे कहा, “जैसी ये सीरीज रही है मैं इससे कई सकारात्मक चीजें आगे ले जा सकता हूं, खासकर कि नई गेंद के खिलाफ अटैक करना। नई गेंद दुनिया कि किसी भी कोने में खतरनाक होती है।”

टेस्ट क्रिकेट में बतौर सलामी बल्लेबाज मौका देने के लिए रोहित ने टीम मैनेजमेंट, कोच और कप्तान का शुक्रिया अदा किया।

अपनी बल्लेबाजी के बारे में उन्होंने कहा, “टेस्ट क्रिकेट अलग है, बड़ा स्कोर मुझे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ने में मदद करेगा। मैं इस पर ध्यान लगाने के बारे में सोच रहा था। आपको अनुशासन दिखाना होगा, मैं खुद से यही कह रहा था। मैं बड़े स्कोर बनाकर टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाना चाहता था।”