Rohit Sharma : Playing My Work in a Special way and I will Keep trying to do it
Rohit Sharma

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा कि उनका काम खास तरीके से खेलना है जैसे कि टीम उनसे उम्मीद करती है।

पढ़ेें: केवल एक फॉर्मेट खेलने पर तुरंत फॉर्म में लौटने की जरूरत होती है : पुजारा

सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले ही टेस्ट में 32 साल के रोहित ने दोनों पारियों में शतक जड़ते हुए 176 और 127 रन बनाए जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में 203 रन से जीत दर्ज की।

मुंबई के इस बल्लेबाज ने मैन ऑफ द मैच पुरस्कार हासिल करने के बाद कहा, ‘यहां मेरा काम खास तरीके से खेलना है, वे मेरे से यही उम्मीद करते हैं। और मैं ऐसा करने का प्रयास करता रहूंगा।’

सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारत के उप कप्तान रोहित ने कहा कि लंबे प्रारूप में पारी का आगाज उनके लिए हैरानी भरी चीज नहीं थी क्योंकि कुछ साल पहले ही उन्हें बता दिया गया था कि उन्हें ऐसा मौका मिल सकता है।

रोहित ने कहा, ‘कुछ साल पहले ही मुझे बता दिया गया था कि एक दिन मैं शायद पारी का आगाज कर सकता हूं। यहां तक कि नेट्स पर भी मैं नई गेंद से अभ्यास करता था। मैं यह नहीं कहू्ंगा कि यह हैरानी भरा था।’

उन्होंने कहा, ‘शीर्ष पर यह मेरे लिए शानदार मौका था। इस मौके के लिए आभारी हूं, यह ध्यान में रखते हुए कि मैंने पहले ऐसा कभी नहीं किया था।’

पढ़ें: मोहम्मद हसनैन T20 में हैट्रिक लेने वाले दुनिया के सबसे युवा गेंदबाज बने

रोहित ने आक्रामक और रक्षात्मक खेल का शानदार मिश्रण किया। उन्होंने मैच में विश्व रिकॉर्ड 13 छक्के जड़े। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने दूसरी पारी में 10 चौकों और सात छक्कों की मदद से 149 गेंद में शतक पूरा किया।

रोहित ने कहा, ‘दूसरी पारी में मुझे कुछ शॉट खेलने का प्रयास करना पड़ा। यह काम कर गया लेकिन शायद यह काम नहीं भी करता। गेंदबाज आजकल काफी चालाक हो गए हैं लेकिन मैंने अपने ऊपर भरोसा किया और किस्मत भी बहादुरों का साथ देती है।’