Rohit Sharma: We want to win as many games as possible before guys leave for World Cup
रोहित शर्मा (BCCI)

इंडियन प्रीमियर लीग के 19वें मैच में मुंबई इंडियंस ने सनराइजर्स हैदराबाद को उनके घरेलू मैदान पर 40 रनों के अंतर से हराया। रोहित शर्मा की कप्तानी में 12वें सीजन में खेले पांच मैचों में मुंबई की ये तीसरी जीत है। कप्तान रोहित चाहते हैं कि टूर्नामेंट के पहले भाग में वो ज्यादा से ज्यादा मैच जीतें क्योंकि दूसरे भाग तक उनके कई खिलाड़ी विश्व कप की तैयारियों के लिए अपनी राष्ट्रीय टीम में लौट जाएंगे।

हैदराबाद के खिलाफ जीत के बाद रोहित ने कहा, “हम शुरुआत में ज्यादा से ज्यादा मैच जीतना चाहते हैं क्योंकि हमें पता है कि आखिर में सब कितना मुश्किल हो जाता है। कुछ खिलाड़ी विश्व कप के लिए लौट जाएंगे तो उससे भी कोई मदद नहीं मिलेगी। टूर्नामेंट की शुरुआत अहम है और पिछले दो मैचों मे हमने अपने स्क्वाड की क्वालिटी दिखाई है। हमारी जरूरत है कि खिलाड़ी अपना चरित्र दिखाएं और आगे आए- पोलार्ड आज हमारे लिए आगे आया और आखिरी में वो पारी खेली, जिसने हमारे स्कोर में अहम योगदान दिया। सभी गेंदबाजों ने आगे आकर अल्जारी के साथ मिलकर अच्छा योगदान दिया।”

ये भी पढ़ें: स्टीव स्मिथ ने कैमरून बैनक्रॉफ्ट को डरहम का कप्तान बनाने के फैसले का सर्मथन किया

अपना डेब्यू मैच खेल रहे अल्जारी जोसफ ने केवल 12 रन देकर 6 विकेट झटके, जिसके दम पर मुंबई को जीत हासिल हुई। इससे पहले पोलार्ड ने 26 गेंदो पर 46 रनों की पारी खेली जिसने मैच में अंतर पैदा किया।

टीम के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए कप्तान ने कहा, “मैच जीतना अच्छा नतीजा है। मुझे लगा था कि 136 बहुत अच्छा बल्लेबाजी प्रयास नहीं है लेकिन हमने सही एरिया में गेंदबाजी की। उन्हें लगातार आश्चर्यचकित किया और अपनी नर्व्स पकड़कर रखी। हम आखिरी गेंद पर मैच में थे। अल्जारी ने शानदार गेंदबाजी की, पहले मैच में इस तरह से गेंदबाजी करना शानदार है। वो कैरेबियन प्रीमियर लीग से काफी आत्मविश्वास लेकर आया है और वो यहां उसे जारी रख रहा है।”

ये भी पढ़ें: अल्जारी जोसफ का शानदार स्पेल बना मुंबई की जीत का कारण

रोहित ने आगे कहा, “हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की, लगातार विकेट खोए और एक-दो ओवरों के बाद हमें समझ आ गया कि ये 170-180 वाली पिच नहीं है। पिच करीबन एक दिन के लिए कवर्स से ढकी हुई थी, बारिश भी हुई थी और विकेट चिपचिपा था। इसलिए हमें पता था कि 140 बचाने के लिए अच्छा स्कोर होगा क्योंकि हमारे पास अच्छा गेंदबाजी अटैक है और हमने उन्हें हमारे बनाए स्कोर का बचाव करने के लिए पूरी तरह सपोर्ट किया।”

हैदराबाद की बल्लेबाजी के खिलाफ योजना के बारे में बात करते हुए रोहित ने कहा, “उनके ज्यादातर रन शीर्ष क्रम ने बनाए हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि उनका मध्य क्रम कमजोर था और हम इसका फायदा उठाना चाहते थे। हमें पता था एक बार हमें शुरुआती विकेट मिल जाएंगे और स्पिन के साथ जिस तरह के सीमर हमारे पास हैं, हमें यकीन था कि हम उन्हें पछाड़ सकते हैं।”