Ross Taylor prays in apology after passing Martin Crowe’s Test century mark
ROSS © Getty Images

न्यूजीलैंड के बल्लेबाज रॉस टेलर ने बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्ट में शानदार दोहरा शतक लगाकर पूर्व दिग्गज और अपने मेंटर मार्टिन क्रो को पछाड़ दिया। जिसके बाद टेलर ने इस दिवंगत खिलाड़ी के लिए प्रार्थना की और माफी मांगी।

वेलिंगटन में अपना 18वां टेस्ट शतक जड़ने के साथ ही टेलर क्रो के 17 टेस्ट शतक के रिकॉर्ड से आगे निकल गए हैं और न्यूजीलैंड के लिए सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। क्रो ने भविष्यवाणी की थी कि टेलर एक दिन महान बल्लेबाज के निशान से आगे निकल जाएगा और इसे पूरा करना रॉस टेलर की सबसे बड़ी महात्वाकांक्षा थी।

ये भी पढ़ें: टेलर का दोहरा शतक, न्यूजीलैंड ने पहली पारी 432 रन पर की घोषित

क्रो की भविष्यवाणी को सच करने के बाद टेलर ने कहा, “मैंने होगन (क्रो) से यहां पहुंचने में इतना ज्यादा समय लेने के लिए माफी मांगी।” 2017 में क्रो की कैंसर से मृत्यु के लगभग दो साल बाद, टेलर ने अपना 17वां टेस्ट शतक बनाया।

“जब मैंने सिर्फ क्रिकेट खेलना शुरू किया था तो 17 इतनी बड़ी संख्या थी। एक बार जब मैं वहां पहुंच गया था तो शायद थोड़ी राहत मिली थी। ये शायद मेरे दिमाग में कहीं था।”

ये भी पढ़ें: न्यूजीलैंड ने बांग्लादेश पर दूसरे टेस्ट में कसा शिकंजा

टेलर ने एक खेल मनोवैज्ञानिक के साथ क्रो के रिकॉर्ड को तोड़ने पर चर्चा की थी, जिसने उन्हें ये स्वीकार करने के लिए कहा था कि ये हमेशा उनके साथ रहेगा और “अब इसे पूरा करने के बाद, बस वहां जाकर खेलना अच्छा होगा।”

20 रन के स्कोर पर ड्रॉप हुए टेलर ने कप्तान केन विलियमसन के साथ तीसरे विकेट के लिए 172 रनों की साझेदारी बनाई और चौथे विकेट के लिए हैनरी निकोलस के साथ 216 रन जोड़े। अपनी इस पारी के साथ टेलर ने क्रो के बेसिन रिजर्व स्टेडियम में सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड को भी पार किया। टेलर ने मजाकिया अंदाज में कहा कि ‘वो (क्रो) इससे थोड़ा नाराज होंगे’।