आईओसी की सभी शर्ते पूरी करने को तैयार रूस
फोटो साभार colorlib.com

रूस के खेल मंत्री विताली मुतको ने मंगलवार को कहा कि जिन खिलाड़ियों पर डोपिंग का आरोप नहीं है, उनके रियो ओलम्पिक में हिस्सा लेने के लिए रूस, अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) की सभी शर्ते पूरी करने को तैयार है। समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, शीर्ष खेल महासंघों के ओलम्पिक सम्मेलन में आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाक ने कहा कि अलग-अलग खिलाड़ियों के मामले में अतिरिक्त जांच के बाद रूस के खिलाड़ी 2016 ओलम्पिक में खेलने का अधिकार पा सकते हैं।

मुतको ने कहा, “आज हम सारे प्रयोगों के लिए तैयार हैं। हम इस पर काम करने के लिए तैयार हैं। ट्रैक एंड फील्ड खेल के खिलाड़ियों के कारण आज रूस मुश्किल समय से गुजर रहा है।”

मुतको ने कहा, “कई सारी समस्याएं खेल में होती हैं, जैसे जानकारी के अभाव में ट्रैक एंड फील्ड खेल में हुई समस्या।”

उन्होंने कहा, “जाहिर है थॉमस बाक को इसने चेताया होगा, लेकिन उन्होंने जो मुख्य बात कही वह कि जो खिलाड़ी ईमानदार हैं उन्हें ओलम्पिक में हिस्सा लेने देना चाहिए। हमें आज वह सब कुछ करना चाहिए जिससे कोई किसी को धोखा नहीं दे सके और इसके लिए हमें अपने आप में ईमानदार होना पड़ेगा।”

उन्होंने कहा, “बाक ने 2020 का एजेंडा रखा और वह खेलों को पारदर्शी, साफ और एकता का मार्ग बनाना चाहते हैं। रूस इस राह में साथ चलने के लिए तैयार है।”

अंतर्राष्ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ (आईएएएफ) ने शुक्रवार को वियना में परिषद की बैठक में ऑल रशियन एथलेटिक्स महासंघ (एआरएएफ) को पहले से तय मापदंड़ों का पालन न करने के कारण निलंबित करने का फैसला लिया था।

इस निलंबन का मतलब है कि रूस के ट्रैक एंड फील्ड खिलाड़ी इसी साल अगस्त में होने वाले ओलम्पिक में हिस्सा नहीं ले सकेंगे। अपवाद के तौर पर सिर्फ वही खिलाड़ी हिस्सा ले सकेंगे जो अपने आप को डोपिंग स्कैंडल से बेगुनाह साबित कर सकेंगे।