S Sreesanth calls Kerala High Court’s verdict ‘worst decision ever’
श्रीसंत © IANS

बीसीसीआई की अपील पर केरल हाईकोर्ट का आजीवन बैन जारी रखने का फैसला आने के बाद श्रीसंत ने ट्विटर के जरिए अपनी प्रतिक्रिया दी। भारतीय तेज गेंदबाज ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए लिखा, “यह सबसे गलत फैसला है…मेरे लिए अलग नियम हैं? असली दोषियों का क्या? चेन्नई सुपर किंग्स का क्या? और राजस्थान का क्या?” श्रीसंत ने दूसरे ट्वीट में लिखा, “और लोढ़ा रिपोर्ट में शामिल उन 13 लोगों का क्या? उनके बारे में क्या कोई नहीं जानना चाहता? मैं सही से के लिए हमेशा लड़ता रहूंगा…भगवान महान है।”

 

 

श्रीसंत को ट्विटर पर फैंस का भरपूर समर्थन मिल रहा है। कई यूजर्स ने लिखा कि ‘इस फैसले के बाद कोर्ट पर से भरोसा ही उठ गया है’, वहीं किसी ने कहा कि मौजूदा और पूर्व भारतीय क्रिकेटरों को श्रीसंत का समर्थन करना चाहिए। श्रीसंत ने अपने सभी फैंस को शुक्रिया कहा है, उन्होंने ट्वीट किया, “अभी तक मेरा साथ देने के लिए सभी का शुक्रिया। मैं आपसे कहना चाहता हूं कि मैने हार नहीं मानी है….मैं इस पर अड़ा रहूंगा और हमेशा विश्वास करता रहूंगा।” श्रीसंत ने आगे लिखा, “अब मेरे पास केवल मेरा परिवार और कुछ खास लोग हैं जिन्हें मुझपर भरोसा है। मैं लड़ता रहूंगा और हार नहीं मानूंगा।” [ये भी पढ़ें: श्रीसंत की वापसी के रास्ते हुए बंद!]

 

श्रीसंत के पास अब केवल सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का रास्ता बचा है। हालांकि उन्होंने इस बारे में कोई साफ संकेत नहीं दिया है लेकिन अगर उन्होंने आगे लड़ाई करने का मन बनाया है तो मुमकिन है कि वह उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएं।