S Sreesanth disappointed with Indian bowling in England series
Indian fast bowler S Sreesanth @IANS

भारतीय क्रिकेट टीम को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 1-4 की शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। पूर्व दिग्गज और क्रिकेट पंडित टीम की तेज गेंदबाजी से काफी प्रभावित हुए लेकिन टीम के बाहर चल रहे शांताकुमार श्रीसंत काफी निराश हैं। भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के चार मैच में हार मिली। भारतीय टीम को सीरीज में करीबी मुकाबले में हार मिली जिसके लिए श्रीसंत तेज गेंदबाजी को निशाना बनाया है।

मुंबई मिरर से श्रीसंत ने बताया कि भारतीय तेज गेंदबाजों ने ऐसा कुछ खास नहीं किया जो उनको प्रभावित कर पाए। उन्होंने कहा, ”मैंने इंग्लैंड सीरीज को फॉलो किया था। मैं तो गेंदबाजी प्रदर्शन से बेहद निराश हूं। भारत की इंग्लैंड में आखिरी सीरीज जीत साल 2007 में आई थी जिसका मैं भी हिस्सा था। मैं , आर पी सिंह और जहीर सीरीज के दौरान थे और हमने लॉड्स टेस्ट बचाया था।”

आगे उन्होंने कहा, ”मैं यह नहीं कह रहा कि 2007 का गेंदबाजी आक्रमण बेहतर था लेकिन इशांत शर्मा सबसे अनुभवी गेंदबाज थे। इस लिहाज से उनको 18 नहीं बल्कि कम से कम 25 विकेट हासिल करने चाहिए थे। एक पारी में पांच विकेट नहीं लेकिन मैच में तो पांच विकेट हासिल कर सकते थे। जैसे दो और तीन विकेट मैच की हर पारी के दौरान।”

साल 2007 में इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीत के दौरान श्रीसंत ने 9 विकेट हासिल किए थे। जहीर खान ने 18 जबकि आरपी सिंह ने कुल 12 विकेट चटकाए थे। इस सीरीज में इशांत शर्मा ने 18 , मोहम्मद शमी ने 16, जसप्रीत बुमराह ने 14 जबकि हार्दिक पांड्या 10 विकेट लेने में कामयाब रहे।

साल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग में फंसे श्रीसंत पर BCCI ने प्रतिबंध लगा रखा है। मैदान पर उतरने की उम्मीद रखने वाले श्री ने कहा- ”मैं अपने आप को ट्रेनिंग में काफी व्यस्त रखता हूं। ईश्वर की काफी कृपा है मेरे उपर, मैं बस कोर्ट के फैसला का इंतजार जब मुझे खेलने की अनुमति मिलेगी।”