सचिन तेंदुलकर © Getty Images
सचिन तेंदुलकर © Getty Images

भारतीय टीम के सबसे दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कोलकाता के प्रसिद्ध ईडन गार्डन मैदान पर अपने सबसे पसंदीदा मैच का खुलासा किया। सचिन ने 1993 के हीरो कप सेमीफाइनल मैच को इस मैदान पर खेला अपना सबसे खास मैच बताया। साथ ही सचिन ने यह भी बताया कि उस मैच के दौरान बार बार मैदान पर एक नेवला आ रहा था जो टीम इंडिया के लिए भाग्यशाली साबित हुआ। इस रोमांचक मैच का अंतिम ओवर सचिन ने ही डाला था जब साउथ अफ्रीका को जीत के लिए केवल छह रनों की जरूरत थी। सचिन के सफल ओवर की बदौलत भारत ने शानदार जीत हासिल की थी। ये भी पढ़ें: भारतीय टीम की फील्डिंग देखने में आता है मजा: सचिन तेंदुलकर

सचिन ने इस बारे में बात करते हुए कहा, ” मुझे नहीं पता कि कितने लोगों ने इस पर ध्यान दिया लेकिन यह पहला डे-नाइट मैच था और वहां पर एक नेवला था जो मैच के दूसरे अंतराल में बार-बार आ रहा था। जब वह आया तब हमें विकेट मिले। फिर ज्यादा रन जाने लगे थे और वह फिर आया और हमें विकेट मिले। इसलिए मैं उसके आने का इंतजार करने लगा। मुकाबला काफी करीबी का हो गया और मुझे आखिरी ओवर डालना पड़ा।” जब कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन ने उन्हें आखिरी ओवर डालने को कहा तो सचिन ने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए कहा, “कोलकाता में एक किस्सा मशहूर है, पहले दो विकेट ले लो बाकी के आठ दर्शक ले लेते है।” कोलकाता के लोग क्रिकेट के फैन है और यह ग्राउंड सचिन की कई यादगार पारियों का गवाह रहा है। सचिन ने कहा, “यह काफी यादगार मैच था। पहला डे-नाइट मैच था जहां मुझे आखिरी ओवर डालना पड़ा। पूरे स्टेडियम को टॉर्च की रोशनी से जगमगाते देखना अद्भुत था। यह अनुभव मेरे साथ हमेशा रहेगा।” ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड, दूसरा टी20I, नागपुर(प्रिव्यू): सीरीज में वापसी करने उतरेगी टीम इंडिया

सचिन ने 1991 में साउथ अफ्रीका के साथ खेली सीरीज को याद किया। यह वह सीरीज थी जब प्रोटीज टीम अंतर्राष्ट्रीय करियर में वापसी कर रही थी। सचिन ने कहा कि इस मैदान से उनकी कई खास यादें जुड़ी हैं।