Sachin Tendulkar: Ajit Wadekar’s demise is a personal loss to me
Sachin Tendulkar Ajit Wadekar © Getty Image

भारतीय टीम के पूर्व दिग्‍गज खिलाड़ी अजीत वाडेकर का 15 अगस्‍त को 77 साल की उम्र में मुंबई के एक अस्‍पताल में निधन हो गया। वाडेकर भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान रहने के साथ-साथ साल 1992 में टीम के कोच भी रह चुके हैं। मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर उनकी कोचिंग में क्रिकेट खेल चुके हैं।

वाडेकर सर से मेरे मजबूत संबंध

सचिन ने अजीत वाडेकर को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, “उनकी मृत्‍यु क्रिकेट के लिए बड़ी क्षति है। ये मेरे लिए भी निजी क्षति के समान है। क्रिकेट फैन्‍स वाडेकर सर को महान क्रिकेटर के तौर पर जानते हैं। मेरी नजर में वो एक महान क्रिकेटर के साथ-साथ एक शानदार इंसान भी हैं।” सचिन तेंदुलकर ने वाडेकर से अपने रिश्‍तों के बारे में जानकारी देते हुए कहा, वाडेकर सर मेरे जीवन में काफी महत्‍व रखते थे। बीते कुछ वर्षों में हमारे संबंध और मजबूत होते चले गए थे।”

मेरे करियर में वाडेकर सर की बड़ी भूमिका

तिरंगे झंडे में लिपटे वाडेकर के पार्थिव शरीर को वर्ली स्थित उनके घर पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था। उनका अंतिम संस्कार आज शिवाजी पार्क में किया जाएगा। तेंदुलकर ने इस मौके पर उनके करियर को संवारने में वाडेकर की भूमिका को याद किया।

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘‘मेरे जीवन में वाडेकर सर की भूमिका काफी अहम रही है, खासकर उम्र के महत्वपूर्ण पड़ाव पर। मैं 20 साल का युवा था और आसानी से भटक सकता था। कई बार मुझे अनुभवी इंसान के मार्गदर्शन की जरुरत होती थी, जो इस स्तर पर खेला हो। उन्हें पता था खिलाड़ियों से उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किस प्रकार लेना है। टीम में उनकी मौजूदगी से मुझे निजी तौर पर फायदा मिला।’’

सबा करीम ने दी श्रंद्धांजलि

भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर और बीसीसीआई के महाप्रबंधन (क्रिकेट संचालन) सबा करीम ने भी अजीत वाडेकर को श्रद्धांजलि दी। साबा करीम ने कहा, ‘‘ मेरी उम्र के सभी खिलाड़ी उनका अनुसरण करते हैं। वो बाएं हाथ के शानदार बल्लेबाज थे। उनकी मृत्‍यु पूरी क्रिकेट समुदाय के लिए यह बड़ी क्षति है। ’’ भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर समीर दीघे, विनोद कांबली, हाकी के पूर्व कप्तान एमएम सौमेया के अलावा एमसीए के पूर्व और मौजूदा अधिकारियों ने वाडेकर को श्रद्घांजलि दी।