सचिन तेंदुलकर पहले भी महिला क्रिकेट का समर्थन करते रहे हैं  © Getty Images
सचिन तेंदुलकर पहले भी महिला क्रिकेट का समर्थन करते रहे हैं © Getty Images

भारत के दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी महिला विश्व कप 2017 को सफल बनाने की पैरवी करते हुए कहा कि जो महिलाओं का मैच नहीं देखता वह सच्चा क्रिकेट प्रेमी नहीं है। तेंदुलकर से पूछा गया कि वह ऐसे क्रिकेट प्रशंसक के बारे में क्या कहना चाहेंगे जो महिलाओं का मैच देखने के लिये नहीं जाता, उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह क्रिकेट प्रेमी नहीं है। अगर आप सच्चे क्रिकेट प्रेमी है तो आप स्टेडियम में जाकर मैच देखोगे।”

उन्होंने आगे कहा, “वे बेहद कुशल खिलाड़ी हैं, प्रतिस्पर्धी हैं और सच्ची खेल भावना से कड़ी चुनौती देती हैं। इसलिए आप उनका मैच देखने के लिये क्यों नहीं जाओगे। मुझे लगता है कि आपको शीशे के सामने खड़े होकर खुद से पूछने की जरूरत है कि क्या आप क्रिकेट प्रशंसक या क्रिकेट प्रेमी हो। अगर हां, तो फिर आपको वहां होना चाहिए।” अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आज टूर्नामेंट का कार्यक्रम जारी किया गया। तेंदुलकर को इस अवसर पर आईसीसी महिला विश्व कप 2017 के लिये यूनिसेफ और ‘क्रिकेट फॉर गुड एंबेसडर’ बनाया गया। [ये भी पढ़ें: आईसीसी महिला विश्व कप के पहले मुकाबले में भारत का सामना इंग्लैंड से]

टूर्नामेंट के दौरान 21 दिन में 28 मैच खेले जाएंगे। दुनिया की आठ सर्वश्रेष्ठ टीमों के बीच राउंड रॉबिन के बाद ब्रिस्टल और डर्बी में सेमीफाइनल होंगे जबकि लार्डस में 23 जुलाई को फाइनल खेला जाएगा। पूर्व उप विजेता भारत का पहला मुकाबला 24 जून को विश्व कप के पहले दिन डर्बी में मेजबान इंग्लैंड से होगा। टीम इंडिया विश्वकप क्वालीफायर में शीर्ष पर रही थी। इस विश्वकप में भारत खिताब का सबसे बड़ा उम्मीदवार है।