Sachin Tendulkar, Don Bradman, Steven Smith could have gotten out 1,000 times off Mitchell Starc’s delivery: Graeme Swann
मिचेल स्टार्क ने पर्थ टेस्ट में जेम्स विंस को आउट किया © Getty Images

पर्थ टेस्ट के चौथे दिन ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने इंग्लैंड के जेम्स विंस को आउट करने के लिए ऐसी गेंद कराई जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज शेन वॉर्न ने इसे ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ करार दिया। वहीं एक और पूर्व खिलाड़ी ग्रीम स्वान ने कहा कि स्टार्क की इस गेंद पर सचिन तेंदुलकर और डॉन ब्रैडमैन भी हजार बार आउट हो जाते। स्वान ने कहा, “वो गेंद सचिन तेंदुलकर को हजार में से हजार बार आउट कर सकती है। इस गेंद पर सर डॉन ब्रैडमैन भी हजार बार आउट हो जाते। स्टीवन स्मिथ भी इस गेंद पर हजार बार आउट होता, इसे खेला ही नहीं जा सकता है।”

बॉक्सिंग डे टेस्ट से बाहर हो सकते हैं मिचेल स्टार्क!
बॉक्सिंग डे टेस्ट से बाहर हो सकते हैं मिचेल स्टार्क!

ईएसपीएनक्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ने कहा, “जो लोग ये कह रहे हैं कि इस गेंद की बढ़ा चढ़ाकर तारीफ की जा रही है, वो इस खेल को नहीं जानते हैं। ये ऐसी गेंद थी जो मैने टेस्ट क्रिकेट में कभी नहीं देखी है।” स्वान ने इसकी तुलना शेन वार्न की 1993 में की गई ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ से की। उन्होंने कहा, “लोग ऐसा कह रहें है कि ये गेंद दरार पर गिरी थी, शेन वार्न की वो गेंद गड्ढे में गिरी थी।”

स्वान ने इंग्लैंड के दो सबसे बड़े बल्लेबाज एलेस्टर कुक और जो रूट के खराब प्रदर्शन पर निराशा जताई। स्वान ने ये भी साफ किया कि वह रूट के कप्तान बनने से खुश नहीं थे। उन्हों कहा, “मैं पहले भी कह चुका हूं कि मैं नहीं चाहता था कि वो कप्तान बने। वो हमारा सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है, शायद अब तक इंग्लैंड टीम में आया सबसे अच्छा बल्लेबाज। उसे कप्तानी का बोझ देना, मेरे हिसाब से पूरी टीम को कमजोर बना देता है।”