सचिन तेंदुलकर © Getty Images
सचिन तेंदुलकर © Getty Images

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारत के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने भारतीय टीम की फील्डिंग की तारीफ की और कहा कि वह इस क्षेत्र में दुनिया की श्रेष्ठ टीमों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम जिस तरह से इस समय फील्डिंग कर रही है उसे देखने में मजा आता है। कोलकाता मैराथन के कार्यक्रम में आए तेंदुलकर ने कहा, “हम इस समय फील्डिंग के क्षेत्र में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक हैं। इन सभी खिलाड़ियों को फील्डिंग करते हुए देखने में मजा आता है। फील्डिंग के दौरान वो काफी आक्रामक होते हैं।” ये भी पढ़ें: गिल्स क्लॉर्क ने पीसीबी के सुरक्षा प्रयासों को सराहा

उन्होंने कहा, “हमारे समय में फिटनेस कार्यक्रम थोड़ा सा अलग था। उस समय इतनी जानकारी नहीं थी। समय के साथ नई चीजों के बारे में पता चला और धीरे-धीरे यह फिटनेस कार्यक्रम का हिस्सा बनती चली गईं।” सचिन ने कहा कि अच्छी फील्डिंग करने के लिए दिमाग और शरीर का एक साथ काम करना जरूरी है। उन्होंने कहा, “मानसिक तौर पर आक्रामक होना एक चीज है लेकिन हकीकत यह है कि आपका शरीर भी दिमाग के साथ काम करना चाहिए और यह तभी मुमकिन हो सकता है जब आप फिट हों और लगातार अभ्यास करें।” कोलकाता मैराथन से जुड़े तेंदुलकर ने कहा कि वह आयोजकों द्वारा दिए गए प्रस्ताव को ठुकरा नहीं पाए क्योंकि वह हमेशा से ही फिटनेस गतिविधियों से जुड़े रहते हैं। ये भी पढ़ें: क्रिकेट प्रशासकों की नियुक्ति में देरी चिंता की बात: सुनील गावस्कर

उन्होंने कहा, “जहां तक मैदान पर की जाने वाली गतिविधियों का सवाल है मैं हमेशा से ही इनके समर्थन में रहता हूं। आज की पीढ़ी एक जगह पर बैठकर सबकुछ हासिल कर सकती है। वीडियो गेम, कम्प्यूटर और इंटरनेट जैसी कई चीजों से वह अपने आप को व्यस्त रख सकते हैं लेकिन लोगों को घर के बाहर जा कर भी खेलना चाहिए।”