© Getty Images
© Getty Images

क्रिकेट के भगवान और ‘भारत रत्न’ सचिन तेंदुलकर आज संसद में अपना डेब्यू भाषण देने वाले थे लेकिन वो ऐसा नहीं कर सके। 2जी घोटाले में कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष ने संसद में जमकर हंगामा किया जिसके चलते सचिन तेंदुलकर बोल नहीं सके और संसद की कार्यवाही को 22 दिसंबर सुबह 11 बजे तक स्थगित कर दिया गया। सचिन तेंदुलकर को राज्य सभा में ‘राइट टू प्ले’ पर बोलना था, लेकिन वो भाषण की शुरुआत करते इससे पहले ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया।

विपक्ष के हंगामे के बीच उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने लगातार विपक्ष से अपील की, जो व्यक्ति बोल रहा है वौ भारत रत्न है। इसे पूरा देश देख रहा है। कृपया शांत हो जाइए। आपके चिल्लाने से कुछ होगा नहीं, लेकिन विपक्ष नहीं माना। अंत में कार्यवाही को 1 दिन के लिए स्थगित कर दिया गया। सचिन अपनी पत्नी अंजलि के साथ राज्य सभा पहुंचे थे जो उनका पहला भाषण सुनने पहुंची थी लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी।

भारत को दबाव में डालेंगे दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज!
भारत को दबाव में डालेंगे दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज!

जया बच्चन ने कांग्रेस पर उठाए सवाल

विपक्ष के हंगामे के बीच समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने सचिन के भाषण के दौरान कांग्रेस के रवैये पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि जिसने देश का रौशन किया, उसे ही बोलने नहीं दिया गया। जया ने कहा, ‘मुझे ऐसा लगता है कि सचिन इसको लेकर निराश हैं, कांग्रेस को सचिन को सदन में बोलने देना चाहिए था।’ सचिन तेंदुलकर और रेखा दोनों ही 2012 में सदन में मनोनीत हुए थे। जिसके बाद करीब 348 दिनों में सचिन सिर्फ 23 दिन और रेखा 18 दिन ही सदन में रहे, जिस पर कई बार सवाल उठ चुके हैं।