Sachin Tendulkar says Virat Kohli’s aggression has made India a stronger side
विराट कोहली © Getty Images

मुंबई। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने कहा कि उन्होंने विराट कोहली की आक्रामकता की झलक उनके भारत के लिए डेब्यू करने के दौरान ही देख ली थी और उनकी यह खूबी अब पूरी टीम में दिख रही है। अपनी आक्रामकता के लिए पहचाने जाने वाले कोहली ने कल न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने 200वें वनडे में करियर का 31वां शतक जड़ा लेकिन टीम को हार का सामना करना पड़ा।

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘टीम में आने के बाद से उसके रवैये में बदलाव नहीं आया है। मैंने उसके अंदर यह चिंगारी देखी थी जो कई लोगों को पसंद नहीं थी और कई लोग थे जो इसके लिए उसकी आलोचना करते थे। आज यह भारतीय टीम का मजबूत पक्ष बन गया है। उसमें काफी बदलाव नहीं आया लेकिन उसके आस पास के लोग बदल गए। उसका रवैया सिर्फ उसके प्रदर्शन के कारण बदला और एक खिलाड़ी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसे खुद को जाहिर करने की स्वतंत्रता मिले।’’ तेंदुलकर ने ये भी कहा कि मौजूदा भारतीय टीम काफी संतुलित है।

दिल्ली के मैदान पर अपना आखिरी टी20 मैच नहीं खेल पाएंगे आशीष नेहरा!
दिल्ली के मैदान पर अपना आखिरी टी20 मैच नहीं खेल पाएंगे आशीष नेहरा!

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि टीम में शानदार संतुलन है, कई स्पिनर हैं जो बल्लेबाजी भी कर सकते हैं, काफी तेज गेंदबाज हैं जो बल्लेबाजी कर सकते हैं। कल भुवनेश्वर ने जो किया वह हमने देखा, उसके और हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ी विदेशी दौरों पर टीम में संतुलन लाएंगे।’’ तेंदुलकर के साथ महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर मुंबई के रॉयल ओपेरा हाउस में पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब ‘डेमोक्रेसी इलेवन- दे ग्रेट इंडियन स्टोरी’ के विमोचन के दौरान हर्षा भोगले के साथ चर्चा कर रहे थे।

गावस्कर ने इस दौरान मंसूर अली खान पटौदी से जुड़े किस्सों को याद किया और पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव और अजित वाडेकर की कप्तानी की तारीफ की। इस मौके पर पूर्व भारतीय कप्तान वाडेकर, मोहम्मद अजहरूद्दीन, माधव आप्टे, नारी कांट्रैक्टर, विनोद कांबली और प्रवीण आमरे भी मौजूद थे।