पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वकार यूनिस (Waqar Younis) का कहना है कि भारतीय टीम के दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) अपने विनम्र स्वभाव की वजह से बाकी खिलाड़ियों से अलग हैं।

एक चैट शो के दौरान इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “तेंदुलकर ना केवल एक महान खिलाड़ी बल्कि एक महान इंसान भी हैं। मेरा मतलब है कि अगर उनके वनडे और टेस्ट रिकॉर्ड को अलग कर दें तो एक इंसान के तौर पर उनकी खूबियां कमाल हैं, हर उम्र के लोग उन्हें पसंद करते हैं।”

यूनिस ने कहा, “वो बहुत विनम्र शख्स हैं और हर किसी ने उनकी उपलब्धियां देखी हैं और उन्हें मैदान पर प्रदर्शन करते देखा है। उन्होंने जिस तरह से अपने करियर को संभाला है, उसके लिए उन्हें पूरे नंबर।”

पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने साल 1989 के पाक दौरे पर अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। गौरतलब है कि वकार ने भी कराची में खेले गए उसी टेस्ट मैच के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। इस मैच से दोनों खिलाड़िओं के बीच शुरू हुई प्रतिद्वंद्विता लंबे समय तक चली।

विश्व कप 2003 की पारी अविश्वसनीय

साल 2003 के वनडे विश्व कप के दौरान एक बार फिर सचिन और वकार के बीच मुकाबला देखने को मिला जब तेंदुलकर ने 274 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 98 रन की मैचविनिंग पारी खेली।

उस मैच को याद करते हुए यूनिस ने कहा, “साल 2003 में पाकिस्तान के खिलाफ खेली तेंदुलकर की उस पारी को शब्दों में बयां कर पाना मुश्किल है क्योंकि उनकी इतना अच्छा खेला था, खासकर इसलिए क्योंकि टीम इंडिया दबाव में थी और हम अच्छी गेंदबाजी कर रहे थे।”

उन्होंने आगे कहा, “अगर आप तेंदुलकर से भी पूछेंगे तो भी वो उस पारी के बारे में यही कहेंगे कि ये उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी थी। जिस तरह से उन्होंने दबाव के बीच शोएब, वसीम और मेरा सामना किया और जिस तरह से हमें अटैक किया और रन निकाले। मुझे लगता है कि ये उनकी सबसे शानदार पारी थी।”