सनथ जयसूर्या  © IANS
सनथ जयसूर्या © IANS

पूर्व श्रीलंकाई खिलाड़ी और मौजूदा चयनसमिति के अध्यक्ष सनथ जयसूर्या भारत बनाम श्रीलंका तीसरे वनडे के दौरान दर्शकों द्वारा किए हंगामे से काफी दुखी हैं। जयसूर्या की अध्यक्षता वाली चयनसमिति ने सीरीज खत्म होने के बाद इस्तीफा देने का फैसला किया है। जयसूर्या ने क्रिकबज से बातचीत के दौरान कहा कि श्रीलंकन फैंस को अपने ही खिलाड़ियों पर हमला करते देखना काफी दुखद था। उन्होंने बताया, “एक खिलाड़ी जिसने कई सालों तक अपने देश के लिए खेला है और पूर्व कप्तान के तौर पर मुझे इस खेल से जुड़ने पर काफी गर्व है। पिछले रविवार जो कुछ हुआ वो बर्दाश्त के पार था। फैंस को उनके अपने खिलाड़ियों पर हमला करते देखना दुखद था।”

बता दें कि पल्लेकेले में खेले गए तीसरे वनडे में भारत ने श्रीलंका को 6 विकेट से हरा सीरीज पर 3-0 से कब्जा कर लिया है। टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप होने के बाद श्रीलंका को वनडे सीरीज में हारते देख फैंस भड़क उठे। स्टेडियम में बैठे दर्शकों ने मैदान की ओर बोतले फेंकनी शुरू कर दी, जिसके बाद मैच को रोकना पड़ा था। जयसूर्या ने कहा कि यह श्रीलंका टीम का खराब समय चल रहा है लेकिन वह जल्द ही जीत की राह पर वापसी करेंगे। उन्होंने कहा, “यह साल हमारे लिए काफी निराशाजनक रहा है। इस बात में कोई दो राय नहीं है कि हमारे पास प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। हमारे पास कुछ अद्भुत खिलाड़ी हैं। मुझे यकीन है कि हम जल्द ही जीत की ओर वापसी करेंगे। मेरी आंखों में आसूं जरूर है लेकिन मेरा सिर गर्व से ऊंचा है। मैं श्रीलंलाई क्रिकेट को शुभकामना देना चाहूंगा।” [ये भी पढ़ें: अर्जुन राणातुंगा ने किया टीम इंडिया के फैंस का अपमान, देखें विवादित बयान का पूरा वीडियो]

जयसूर्या की अध्यक्षता वाली ये समिति जिसमें असांका गुरुसिंहा, रुमेश कालुविथराना, एरिक उपसंथा और रणजीत मदुरिसिंगे शामिल है, भारत के खिलाफ सीरीज खत्म होने के बाद पद से हट जाएगी। हालांकि इस समिति का कार्यकाल दिसंबर 2017 तक का था लेकिन समिति 6 सितंबर को भारत के खिलाफ होने वाले टी20 मैच के बाद इस्तीफ दे देगी।