Sandeep Lamichhane: Sometimes it’s frustrating not to get into playing XI
संदीप लामिछाने (BCCI)

नेपाल के युवा स्पिनर संदीप लामिछाने को आईपीएल में कम ही मौके मिले हैं लेकिन उसने इसे चुनौती की तरह लेते हुए कहा कि वो हर मौके पर खुद को साबित करने के लिए उतरते हैं। लामिछाने ने शनिवार को एक ओवर में क्रिस गेल और सैम कर्रन के विकेट लेकर किंग्स इलेवन पंजाब को बड़ा स्कोर बनाने से रोक दिया।

अठारह साल के लामिछाने ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैं हमेशा से अपना काम करना चाहता था। मुझे जब भी मौका मिले, मैं खुद को साबित करना चाहता हूं। कई बार निराशा होती है कि अंतिम 11 में जगह नहीं मिली लेकिन आखिर में सभी तो नहीं खेल सकते। टीम मैनेजमेंट की अपनी रणनीति है और उनकी क्रिकेट की समझ हमसे कहीं ज्यादा है। वे हालात के अनुसार प्लेइंग इलेवन उतारते हैं।’’

ये भी पढ़ें: श्रेयस अय्यर की कप्तानी पारी, संदीप लामिछाने की शानदार गेंदबाजी बनी पंजाब की हार की वजह

फिरोजशाह कोटला की पिच को लेकर काफी सवाल उठ रहे हैं लेकिन इस स्पिनर ने कहा कि बाकी दो मैचों में भी वो ऐसी ही पिच देखना चाहेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘पिच अच्छी थी। शुरूआत में थोड़ा टर्न ले रही थी लेकिन गेंद बल्ले पर आ रही थी। ओस के कारण भी गेंदबाजों को गेंद पर पकड़ बनाने में दिक्कत हुई।’’