सानिया मिर्जा की आत्मकथा ‘ऐस अगेंस्ट ऑड्स’ का विमोचन जुलाई में होगा
सानिया मिर्जा photo courtesy

टेनिस खेल के प्रशंसकों के लिए जश्न का समय है, क्योंकि टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा की आत्मकथा ‘ऐस अगेंस्ट ऑड्स’ का विमोचन जुलाई में होने जा रहा है। ‘हार्पर कॉलिंस’ द्वारा प्रकाशित आत्मकथा सानिया के पिता इमरान मिर्जा ने लिखी है।

हार्पर कॉलिंस की प्रकाशक और प्रमुख संपादक कार्तिका वी.के. ने कहा, “सानिया एक असाधारण उपलब्धि है और उनकी आत्मकथा उतनी ही सम्मोहक है, जितनी प्रेरणादायक है। हम उनके साथ इस किताब पर काम करने का अवसर पाकर धन्य हो गए।”

हैदराबाद की 29 वर्षीय टेनिस खिलाड़ी सानिया जूनियर विंबलडन का युगल खिताब जीतकर रातोंरात सुर्खियों में छा गई थीं। वह आशा करती हैं कि यह किताब देश के नवोदित टेनिस खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करेगी।

सानिया ने एक बयान में कहा, “मुझे आशा है कि किताब भारत के टेनिस खिलाड़ियों की अगली पीढ़ी के मार्गदर्शन में मददगार होगी। अगर मेरी कहानी किसी भी युवा खिलाड़ी को भविष्य में ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने के लिए प्रेरित कर सकती है, तो मैं स्वयं को धन्य पाऊंगी।”

इस आत्मकथा में सानिया के जीवन के उतार-चढ़ावों और दिक्कतों से जूझने का क्रमिक विवरण है। इसके साथ ही खेल के मैदान की कुछ स्मृतियों का वर्णन भी इसमें है।

महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) द्वारा एकल और युगल वर्ग में भारत की शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी का सम्मान पा चुकीं सानिया ने 2012 में युगल वर्ग की प्रतियोगिताओं से संन्यास की घोषणा की थी, लेकिन स्विट्जरलैंड की मार्टिना हिंगिस के साथ युगल वर्ग की प्रतियोगिताओं में उन्होंने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की।

अगस्त 2015 से मार्च 2016 के बीच लगातार 41 खिताब जीतने वाली सानिया और हिंगिस की जोड़ी वर्तमान में विश्व की शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी है।