विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथे वनडे में टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद ही शर्मनाक रहा। टीम इंडिया को वेस्टइंडीज ने सिर्फ 190 रनों का लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में विराट कोहली की सेना 178 रनों पर सिमट गई और 11 रनों से मैच हार गई। टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने इस हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया। संजय बांगर ने कहा कि पिच बेहद धीमी थी और शॉट खेलना आसान नहीं था लेकिन इससे हम मुंह नहीं छिपा सकते कि बल्लेबाजों ने खराब खेल दिखाया।

संजय बांगर ने कहा, ‘पिछले मैच में भी हमारा इस तरह की परिस्थितियों से पाला पड़ा था जब हमने पहले दस ओवरों में दो विकेट गंवा दिये थे लेकिन तब भी हम इस तरह के विकेट पर 260 रन बनाने में सफल रहे थे। हम ऐसे विकेटों पर खेल रहे हैं जिन पर खेलना आसान नहीं है।’ बांगड़ ने कहा, ‘श्रेय वेस्टइंडीज को जाता है। उन्होंने अपनी रणनीति पर अच्छी तरह से अमल किया। ये लक्ष्य हासिल किया जा सकता था।’ अजिंक्य रहाणे ने 91 गेंदों पर 60 और महेंद्र सिंह धोनी ने 114 गेंदों पर 54 रन बनाये। बांगर ने हालांकि अन्य खिलाड़ियों की तरह धोनी का भी बचाव किया जिनकी धीमी बल्लेबाजी के लिये आलोचना हो रही है।  [ये भी पढ़ें: चौथे वनडे में वेस्टइंडीज ने भारत को 11 रनों से हरा सीरीज में वापसी की]

बांगर ने कहा, ‘हमारी रणनीति थी कोई आखिर तक एक छोर संभाले रखे। अजिंक्य रहाणे ने आउट होने से पहले ये भूमिका निभायी। जब हम अच्छी स्थिति में थे तभी हमने 2 विकेट गंवा दिये। बीच के ओवरों में ये विकेट गंवाने से हम वास्तव में बैकफुट पर चले गये। इसके बाद रन रेट लगातार बढ़ता रहा।’ चौथे वनडे में टीम इंडिया के ओपनर शिखर धवन सिर्फ 5 रन बना सके। विराट कोहली 3 और दिनेश कार्तिक 2 रन बनाकर आउट हुए। केदार जाधव ने 10 और हार्दिक पांड्या भी 20 रन बनाकर पैवेलियन लौटे। नतीजा ये हुआ कि टीम इंडिया छोटा सा लक्ष्य भी हासिल नहीं कर सकी।