Sanjay Bangar:Constant quest for excellence makes Virat Kohli special
Sanjay Bangar, Ravi Shastri and Virat Kohli in England last year. © Getty

भारतीय क्रिकेट टीम के सहायक कोच संजय बांगड़ का मानना है कि लगातार अच्छे प्रदर्शन की चाह में कप्तान विराट कोहली ने अपने खेल का स्तर इतना ऊंचा उठा लिया है कि कई बार उनके साथी खिलाड़ियों का उम्दा प्रदर्शन भी खास नहीं लगता।

पढ़ें: ये अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन: जेसन होल्डर

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में शतक जमाते हुए 95 गेंद में 123 रन बनाए लेकिन भारतीय टीम 32 रन से हार गई।

कोहली इस सीरीज में दो शतक और एक 40 से अधिक का स्कोर बना चुके हैं।

बांगड़ ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि हम एक ही खिलाड़ी पर निर्भर हैं लेकिन विराट ने अपने खेल का स्तर इतना ऊंचा उठा लिया है कि कई बार दूसरों का अच्छा प्रदर्शन भी खास नहीं लगता।’

यह पूछने पर कि कोहली को क्या बात खास बनाती है, बांगड़ ने कहा कि वह लगातार अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश में रहते हैं।

पढ़ें: कोहली बने सबसे तेज 4 हजार रन बनाने वाले कप्तान, तोड़ा डिविलियर्स का रिकॉर्ड

उन्होंने कहा, ‘वह अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार की कोशिश में रहते हैं और नियमित तौर पर ऐसा करते हैं। यही वजह है कि उनके खेल का स्तर इतना ऊंचा है।’

बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। बांगड़ ने कहा, ‘जब वह बल्लेबाजी कर रहे थे तो लग रहा था कि हम लक्ष्य हासिल कर लेंगे। टॉस जीतकर क्षेत्ररक्षण भी इसलिए चुना कि ओस का पहलू दिमाग में था।’

उन्होंने कहा, ‘मैदानकर्मियों ने ऐसा कहा था क्योंकि कल बहुत ओस थी लेकिन इस मैच में ऐसा नहीं था। लक्ष्य हासिल करना मुश्किल हो रहा था। विराट कुछ देर और रहते तो हम दबाव में नहीं आते।’