क्रिकेट का खेल वैसे तो बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच प्रतिद्वंद्विता का है लेकिन अक्सर इसका पलड़ा बल्लेबाजों के पक्ष में झुका रहता है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज और कमेंटेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) का भी कुछ ऐसा ही मानना है। मांजरेकर का कहना है कि फ्री हिट के नियम को क्रिकेट से हटाना देना चाहिए क्योंकि ये गेंदबाजों के लिए सही नहीं है।

हिंदुस्तान टाइम्स के अपने कॉलम में उन्होंने लिखा, “फ्री हिट एक और चीज है जिसे मैं हटाना चाहता हूं, ये गेंदबाजों पर बहुत अनुचित है। आज जब टीवी अंपायर नो बॉल की निगरानी कर रहा है, तो एक गेंदबाज को लाइन से केवल एक सेंटीमीटर होने पर कड़ी सजा दी जाती है।”

उन्होंने लिखा, “पहली बात तो गेंदबाज को एक अतिरिक्त गेंद डालनी होती है, बल्लेबाज उस नो बॉल पर आउट नहीं हो सकता है, और एक रन का जुर्माना भी है। इसके अलावा, बल्लेबाज को अगली गेंद पर एक फ्री हिट की पेशकश की जाती है जिसमें वो आउट नहीं हो सकता। जुर्माना सिर्फ ‘गलत’ अधिनियम के अनुरूप नहीं है। ये ऐसा है जैसे गेंदबाजों से नफरत करने वाले किसी ने ये नियम पेश किया गया था।”

हालांकि भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने फ्री हिट का समर्थन करते हुए गेंदबाजों के लिए फ्री बॉल के नियम की मांग की।

मांजरेकर के कॉलम के जवाब में अश्विन ने ट्वीट किया, “संजय मांजरेकर, फ्री हिट एक बेहतरीन मार्केटिंग टूल है और इसने सभी प्रशंसकों की कल्पना पर कब्जा कर लिया है। गेंदबाजों को भी एक फ्री बॉल देते हैं जब भी कोई बल्लेबाज नॉन स्ट्राइकर एंड को जल्दी छोड़ता है तो, उस गेंद का एक विकेट मिलने से गेंदबाज के आंकड़ों से कुल 10 रन घट जाएंगे।”

मांकड़ नियम का खुलकर समर्थन करने वाले अश्विन ने आगे कहा, “याद रखें, आपको क्रीज तभी छोड़नी होती है जब गेंदबाज के हाथ से गेंद निकल जाय।”