Saqlain Mushtaq wants ICC should review its rule 15 degree elbow rule for spin bowlers
Saqlain Mushtaq @ Twitter

पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) चाहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) गेंदबाजों के लिए कोहनी मोड़ने की मौजूदा 15 डिग्री की सीमा को हटा दें।

सकलैन लाहौर में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) के उच्च प्रदर्शन केंद्र में मुख्य कोच हैं। उन्होंने कहा कि यह नियम युवाओं को ऑफ स्पिन गेंदबाजी कला को अपनाने से हतोत्साहित कर रहा है।

सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने कहा, ‘‘ मैं जानना चाहता हूं कि आईसीसी के विशेषज्ञ गेंदबाजों को केवल 15 डिग्री तक कोहनी मोड़ने की अनुमति देने के निष्कर्ष पर कैसे पहुंचे। क्या उन्होंने एशियाई खिलाड़ियों, कैरेबियाई खिलाड़ियों या किसी अन्य पर शोध किया क्योंकि हर कोई अलग है।’’

शिखर धवन से पीछे छूटे विव रिचर्ड्कास , तेजी से 6000 रन बनाने के मामले में ये बल्‍लेबाज है नंबर-1

उन्होंने कहा, ‘‘एशियाई खिलाड़ियों का शरीर कैरेबियाई या इंग्लैंड के खिलाड़ियों से थोड़ा अलग है। मुझे लगता है कि आईसीसी को इस कानून की समीक्षा करनी चाहिए क्योंकि 15 डिग्री की सीमा बहुत कम है। यह ऑफ स्पिन गेंदबाजी की कला से खिलाड़ियों को हतोत्साहित कर रहा है’’

Rishabh Pant के कोरोना संक्रमण से चिंतित दिखे Michael Vaughan, बोले- बायो-बबल नियम में हो ये बदलाव

सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने कहा, ‘‘ मैं व्यक्तिगत रूप से मानता हूं कि कानून के तहत भी कोई ‘ऑफ-स्पिन’, ‘दूसरा’ और ‘टॉप स्पिन’ गेंदबाजी कर सकता है, लेकिन जब से यह नियम सामने आया है, मैंने ऐसे खिलाड़ी देखे हैं जो ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते थे लेकिन अब लेग स्पिनर या कलाई के स्पिनर बन गए हैं।’’

क्रिकेट में ‘दूसरा’ गेंद को लोकप्रिय बनाने वाले सकलैन ने टेस्ट में 208 और एकदिवसीय में 288 विकेट लिए है।