पाकिस्तान  © AFP
पाकिस्तान © AFP

हाल फिलहाल में पाकिस्तान क्रिकेट टीम लगातार सफलता का स्वाद चख रही है। इसका श्रेय उनके विकेटकीपर कप्तान सरफराज अहमद को जाता है। सरफराज ने विकेटों के पीछे से बेहतरीन काम को अंजाम देते हुए अपनी टीम को चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का विजेता बनाया था। कप्तान के तौर पर सरफराज का मैदान पर अंदाज निराला है। सरफराज की भावनाओं का सैलाब अक्सर मैदान पर फूट पड़ता है। जिसको लेकर उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा है।

जब मैदान पर चीजें उनकी योजनाओं के मुताबिक नहीं हो रही होतीं तो वह चिल्लाने लगते हैं। कुछ लोगों के मुताबिक ये खराब आदत है बल्कि कुछ लोग कहते हैं कि उनके इस रवैए से पता चलता है क वह पाकिस्तान को जिताने के लिए आमादा होते हैं खुद के लिए नहीं।

बहरहाल, इस तरह से अपने गुस्से को जाहिर करना सरफरीज के व्यक्तित्व का हिस्सा है, और उनके टीममेट इस बात को समझते हैं और इसको लेकर उनके बीच कभी मनमुटाव नहीं होता। यहां तक कि वे सोचते हैं कि यह उनका हक है कि वह अपना आपा खोएं जब उनके खिलाड़ी उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन न कर रहे हों। दिलचस्प बात ये है कि ऑलराउंडर इमाद वसीम ने बताया है कि आधे समय सरफराज उनके कारण गुस्से में रहते हैं।

इमाद ने बीबीसी उर्दू से बातचीत में बताया, “सरफराज अहमद मुझसे ज्यादातर गुस्सा रहते हैं, बहरहाल, मुझे इसे लेकर कभी बुरा नहीं लगा। जैसा कि मैं सरफराज को करीब 12 सालों से जानता हूं। ये जाहिर है कि अगर आप पाकिस्तान के लिए खेल रहे हो और गलती करोगे तो आप पर गुस्सा किया जाएगा।”

दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच होंगे रिकी पोंटिंग: सूत्र
दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच होंगे रिकी पोंटिंग: सूत्र

उन्होंने कहा, “जैसा कि हम सरफराज का स्वभाव जानते हैं, ये हमारे के लिए नई चीज नहीं है लेकिन जो लोग सरफराज को नहीं जानते यह गुस्सा नई चीज हो सकती है। बहरहाल, सरफराज मैदान के भीतर और बाहर हमें भाई की तरह मानते हैं।”