मौजूदा रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट के दौरान मुंबई के लिए तिहरा शतक जड़ने के बाद अगले ही मैच में 226 रन की नाबाद पारी खेलने वाले सरफराज खान का मानना है कि विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम से रिलीज किए जाने से वो काफी आहत थे.

आईपीएल 2019 से पहले किंग्‍स इलेवन पंजाब ने उन्‍हें अपनी टीम में शामिल किया. बीता सीजन उनके लिए करियर का सर्वश्रेष्‍ठ सीजन साबित हुआ. उन्‍होंने पहली बार आईपीएल में अर्धशतकीय पारी भी खेली.

पढ़ें:- तिहरे शतक के बाद अगले ही मैच में सरफराज खान ने फिर जड़ा दोहरा शतक, पिक्‍चर अभी बाकी है

ईएसपीएन क्रिकइन्‍फो से बातचीत के दौरान सरफराज खान ने कहा, “आरसीबी द्वारा मुझे रिलीज किए जाने से मैं काफी आहत जरूर महसूस करने लगा था, लेकिन मैं इस बारे में कुछ नहीं कर सकता था. पिछला आईपीएल सीजन किंग्‍स इलेवन पंजाब के लिए मेरा सर्वश्रेष्‍ठ सीजन में से एक रहा. मुझे समझ आने लगा था कि लोगों को अपने प्रति प्रभावित करने के लिए यह मेरे लिए सबसे अच्‍छा मौका है.”

सरफराज खान अब तक 33 आईपीएल मैच खेल चुके हैं, जिसमें उन्‍होंने 23 पारियों में 408 रन बनाए हैं. उन्‍होंने कहा, “रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने मुझे साल 2016 में फिटनेस के पैमाने पर ही टीम से ड्रॉप कर दिया था. विराट कोहली ने मेरे पास आकर साफ कहा था कि मेरे खेलने की काबिलियत पर उन्‍हें कोई संदेह नहीं है लेकिन फिटनेस एक बड़ा मुद्दा है. उनका कहना था कि फिटनेस ही मुझे खेल में अगले स्‍तर पर पहुंचने से रोक रही है. उन्‍होंने बेहद इमानदारी से मेरी स्थिति के बारे में मुझे समझाया था.”

पढ़ें:- NZ के विकेटकीपर बल्‍लेबाज का बड़ा बयान, ‘बुमराह की गेंद पर शॉट लगाना मुश्किल’

“मुझे समझ आ गया था कि मुझे आगे बढ़ने के लिए फिटनेस पर ध्‍यान देना ही होगा. तभी से मैने वर्कआउट करना शुरू कर दिया था. मैं काफी दौड़ता था और जिम में पसीना भी बहाता था. मैंने मिठाईयां खाना छोड़ दिया था. साथ ही मैंने अपनी खाने-पीने की आदतों में भी काफी सुधार किया.”

सरफराज खान ने कहा, “मैं यह नहीं कहूंगा कि अच्‍छी फिटनेस पाने के लिए मैं काफी ज्‍यादा मेहनत करने लगा. हां, मैंने अपने खाने-पीने के तरीके में छोटे-छोटे बदलाव किए. जंक फूड खाना बंद कर दिया”