Scottish cricket club chairman says there is little chance of S Sreesanth playing for them
श्रीसंत © IANS

केरल हाई कोर्ट के बीसीसीआई द्वारा लगा आजीवन बैन जारी रखने के फैसले के बाद श्रीसंत के साथ साथ स्कॉटलैंड क्रिकेट क्लब की परेशानियां भी बढ़ गई हैं। दरअसल भारतीय तेज गेंदबाज ने स्कॉटलैंड के ग्लेनरोथ्ज क्रिकेट क्लब के साथ काउंटी क्रिकेट खेलने का फैसला किया था लेकिन कोर्ट के इस फैसले के बाद क्लब के चेयरमैन एडी गिब्स ने पूरा मामला खत्म होने तक इंतजार करने का फैसला किया है। श्रीसंत के पास केरल हाई कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जाने का रास्ता अब भी बाकी है।

यूके की एक न्यूज वेबसाइट ने गिब्स के हवाले से लिखा, “करीबन दो साल पहले के इस मामले के रद्द होने के बाद ये तय था कि बीसीसीआई इस फैसले के खिलाफ अपील करेगी और बैन फिर से लगवाएगी। ऐसा ही हुआ और श्रीसंत ये मामला सुप्रीम कोर्ट में ले जा सकते हैं।” गिब्स ने साफ कहा कि श्रीसंत पर केवल बीसीसीआई ने बैन लगाया है आईसीसी ने नही, इसलिए वह किसी और देश के लिए क्रिकेट खेल सकते हैं। हालांकि श्रीसंत ने साफ कहा है कि वह किसी और देश के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं लेकन उन्हें विदेशी टी20 लीग में खेलने का मौका मिलना चाहिए।

कोर्ट के फैसले पर भड़के श्रीसंत, कहा 'मेरे लिए अलग नियम हैं, असली दोषियों का क्या'
कोर्ट के फैसले पर भड़के श्रीसंत, कहा 'मेरे लिए अलग नियम हैं, असली दोषियों का क्या'

गिब्स ने आगे कहा, “भारत में लगा एक घरेलू बैन उसे दूसरे देश में अपना करियर शुरू करने से रोक रहा है, अगर कानूनी प्रक्रिया सही रही तो मुमकिन है कि श्रीसंत जल्द ही उनके लिए खेल रहे होंगे।” श्रीसंत और गिब्स के बीच अच्छी दोस्ती है और भारतीय खिलाड़ी ने सार्वजनिक तौर पर ये कहा था कि वह मौका मिलते ही उनके क्रिकेट क्लब के लिए खेलेंगे। हालांकि इसके लिए श्रीसंत को लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी होगी।