एम एस धोनी और आर अश्विन © AFP
एम एस धोनी और आर अश्विन © AFP

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज के लिए स्टार स्पिनर आर अश्विन को भारतीय टीम में जगह मिलेगी या नहीं इसपर सस्पेंस बरकरार है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले पहले तीन वनडे मैचों के लिए टीम इंडिया का चयन रविवार को किया जाएगा। रविवार को ही फैसला लिया जाएगा कि रविचंद्रन अश्विन को भारत वापस बुलाया जाए या फिर नहीं। ये भी पढ़ें: जेम्स एंडरसन की कातिलाना गेंदबाजी की दम पर इंग्लैंड ने तीसरे टेस्ट और सीरीज पर किया कब्जा

बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा, ‘‘काउंटी में अश्विन का करार चार मैचों का है और अगर उन्हें दो ही मैचों के बाद बुला लिया जाता है तो इससे वो इंग्लैंड के हालातों से ठीक तरह से वाकिफ नहीं हो पाएंगे। टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं ने फैसला किया था कि उन्हें काउंटी क्रिकेट में खेलना चाहिए। जिससे वो इंग्लैंड के हालातों के मुताबिक खिद को ढाल सकें।’’ अश्विन फिलहाल इंग्लिश काउंटी के लिए डिवीजन में खेल रहे हैं और उनका करार चार मैचों का है जिसमें से अभी तक दो ही मैच हुए हैं। अश्विन को अब 12 से 15 सितंबर तक अपना अगला मैच खेलना है और आखिरी मैच 25 से 28 सितंबर तक खेलना है।

माना जा रहा है कि अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल के शानदार प्रदर्शन के बाद इस बात की संभावनाएं काफी कम हैं कि अश्विन को काउंटी से वापस बुलाया जाएगा। टीम चयन में किसी हैरानी भरे बड़े फैसले की उम्मीद नहीं है लेकिन अगले तीन महीनों में 23 अंतरराष्ट्रीय मैचों (11 वनडे, नौ टी20 अंतरराष्ट्रीय और तीन टेस्ट) को ध्यान में रखते हुए चयनकर्ता टीम में फेरबदल कर सकते हैं। ये भी हो सकता है कि भुवनेश्वर कुमार या जसप्रीत बुमरा को आराम दिया जाए और इनकी जगह उमेश यादव या मोहम्मद शमी को पहले तीन मैचों के लिए बुलाया जाए।