बांग्लादेशी ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) की पत्नी उम्मे अल हसन (Umme Ahmed Shishir) ने अपने पति का उस मामले में बचाव किया है, जिसमें ऑलराउंडर ढाका प्रीमियर लीग (Dhaka Premier League 2021) में मोहम्मडन स्पोर्टिग क्लब की ओर से खेलते हुए मैदान पर गुस्से में अपना आपा खो बैठे थे और अंपायर के आउट नहीं देने पर स्टंप्स को लात मारकर गिरा दिया था. शाकिब डीपीएल में अभानी लिमिटेड के खिलाफ गेंदबाजी कर रहे थे और तभी अपनी एक गेंद पर अंपायर द्वारा आउट नहीं देने पर वह एक बार नहीं, बल्कि दो बार अपना गुस्से में अपना आपा खो बैठे.

शाकिब ने मुशफिकुर रहीम के खिलाफ की गई पगबाधा की अपील को खारिज किए जाने के बाद लात मारकर स्टंप गिरा दिया. बाद में उन्होंने मैदान पर ही स्टंप उखाड़कर उसे जमीन पर पटक दिया और फिर अंपायर से बहस भी करने लगे. इसके बाद अंपायर पर भी जोर जोर से चिल्लाने लगे.

उनकी इस हकरत को लेकर जहां चारो ओर उनकी आलोचना हो रही है तो वहीं उनकी पत्नी उम्मे अल हसन ने इस मामले में अपने पति का बचाव किया है और कहा है कि उनके पति के खिलाफ साजिश रची जा रही है.

उम्मे अल हसन ने फेसबुक पर लिखा, “मैं इस घटना को वैसे ही एंजॉय कर रही हूं जैसा कि मीडिया कर रहा है. आखिरकार कोई टीवी चैनल पर कोई तो न्यूज आई. जो लोग तस्वीर को साफ से देख पाए उनका सपोर्ट पाकर अच्छा लग रहा है, कम कम किसी को मुश्किल हालात के खिलाफ खड़े होने की हिम्मत है.”

उम्मे ने कहा, “हालांकि ये देखना दुखद है कि मुख्य मुद्दे को मीडिया द्वारा दरकिनार कर दिया गया, जो गुस्सा दिखा सिर्फ उसे हाइलाइट किया गया..असल मसला अंपायर का फैसला था, जो नजरों में आया. हेडलाइन सच में दुखद है. मुझे लगता है कि उनके खिलाफ यह एक साजिश है ताकि उन्हें हर हालात का विलेन साबित किया जा सके. अगर आप क्रिकेट फैंस हैं तो अपने एक्शन को लेकर सतर्क रहें.”