ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) ने महान स्पिनर शेन वार्न (Shane Warne) को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अगर वो इंग्लैंड के कोच होते तो खेल के अपने अनुभव और खेल की अपार समझ की मदद से वो अपनी भूमिका शानदार तरीके से निभाते.

पूर्व इंग्लैंड क्रिकेटर ईशा गुहा (Isha Guha) ने इससे पहले स्वयं कहा था कि वार्न ने उनके साथ बातचीत में इंग्लैंड का कोच बनने की इच्छा जताई थी.

एशेज में ऑस्ट्रेलिया की 4-0 से जीत के बाद इंग्लैंड ने मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड (Chris Silverwood) को बर्खास्त कर दिया था. वार्न ने थाईलैंड में आकस्मिक निधन से कुछ हफ्ते पहले इंग्लैंड का कोच बनने की अपनी इच्छा के बारे में अपने दोस्तों को बताया था.

पॉन्टिंग ने ‘द आईसीसी रिव्यू’ में साथी प्रसारक गुहा से कहा, ‘‘उनका (वार्न का) खेल के प्रति जुनून और ज्ञान अद्भुत था. उनमें एक बेहतरीन कोच बनने के सभी गुण थे. इंग्लैंड क्रिकेट टीम से अगर वार्न जैसा व्यक्ति जुड़ता तो मुझे लगता है कि उसने बहुत अच्छा काम किया होता.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ये खेल जगत की बहुत बड़ी क्षति है. चाहे उसने कुछ कोचिंग की होती या यहां तक ​​​​कि जिस तरह से वह बात करता था, वह हमें अपनी कमेंट्री के जरिये जो चीजें बताता था, मुझे लगता है कि हम सभी को उसकी कमी खलेगी.’’