Shane Warner on Sachin-Kohli comparison: Very hard to judge Eras
Shane Warne (AFP Photo

भारतीय कप्तान विराट कोहली के करियर के आगे बढ़ने के साथ ही महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के साथ उनकी तुलना भी और ज्यादा की जाने लगी। हालांकि कोहली कभी भी इससे सहमत नहीं हुए और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज शेन वार्न का भी यही मानना है। दिग्गज लेग स्पिनर वार्न का कहना है कि दो अलग अलग युगों की तुलना करना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें: वर्टिगो की जांच कराएंगे ऑस्ट्रेलियाई पेसर नाथन-कूल्टर नाइल

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में वार्न ने कहा, “न्याय करना बहुत मुश्किल होता है जब कोई खेल रहा है और दो युगों की तुलना करना बहुत मुश्किल है। आप 90 के दशक के गेंदबाजों के बारे में सोंचे। अलग पिचें दो सीम की मददगार थी। आजकर की पिचें ज्यादा फ्लैट हैं। गेंद तब ज्यादा स्विंग करती थी। लेकिन ये नहीं सोचना कि कोई 90 के दशक में वसीम, वकार, कर्टली, कर्टनी, मैग्रा, डॉनल्ड, सकलेन, मुशी, वेटोरी, मुरली और मेरे खिलाफ ब्राइन लारा और सचिन से बेहतर था।”

ये भी पढ़ें: विराट कोहली अच्छे लीडर हैं लेकिन चालाक कप्तान नहीं: शेन वार्न

वार्न ने आगे कहा, “विराट सारे रिकॉर्ड तोड़ रहा है जो कि देखने में अच्छा है लेकिन मैं इंतजार करना चाहता हूं। देखिए, लोग जो चीज भूल जाते हैं वो ये कि आप बेंचमार्क सेट कर सकते हैं कि इतने शतक बनाने हैं, ऐसा औसत होना चाहिए, इतने ज्यादा रन बनाने हैं। लेकिन जिस चीज के लिए लोग आपको याद रखेंगे वो है आपके खेल का तरीका। किसी को सड़कों पर जाकर फैंस से पूछना चाहिए कि क्या उन्हें याद है कि मार्क वॉ ने कितने रन बनाए थे या फिर उनका औसत कितना था? उन्हे याद नहीं होगा लेकिन संभावना है कि वो ये कहेंगे ‘मुझे उन्हें खेलते देखना पसंद था’। मेरे दिमाग में जो चीज है कि विराट बिना किसी शक के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं। वनडे में वो शायद वो विव रिचर्ड्स के साथ महान खिलाड़ियों की सूची में होगा। ना कि रिकॉर्ड बल्कि अपने खेलने के तरीके की वजह से लेकिन मैं उसका करियर खत्म होने के बाद उसपर कोई फैसला लूंगा।”