Shannon Gabriel reveals what he really said to Joe Root during third Test
Shannon Gabriel (AFP Photo)

वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेनन गेब्रियल ने समलैंगिक टिप्पणी मामले में इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट से बिना शर्त माफी मांग ली है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गेब्रियल पर वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच सेंट लूसिया में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दौरान रूट से बहस के दौरान समलैंगिकता से संबंधित टिप्पणी करने का दोषी पाया था और फिर उन पर चार मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था।

गेब्रियल ने एक बयान में कहा, “मेरे टीम साथी और इंग्लैंड टीम के सदस्य, खासकर उनके कप्तान रूट, मैं अपनी टिप्पणी के लिए बिना किसी शर्त के माफी मांगता हूं जो कि मैदान पर किए गए टिप्पणी के संदर्भ में है। मुझे लगता है कि यह अप्रभावी था।”

पढ़ें:- अभद्र भाषा के प्रयोग पर शेनन गेब्रियल पर 4 वनडे का प्रतिबंध

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि यह अपमानजनक था और इसके लिए मुझे बेहद अफसोस है।”

आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन के बाद गेब्रियल पर मैच फीस का 75 प्रतिशत जुमार्ना लगाने के साथ-साथ उनके खाते में तीन डीमेरिट अंक भी जोड़ दिया गया था। 24 महीने के अंदर गेब्रियल के खाते में आठ डीमेरिट अंक हो गए थे, जिस कारण उन पर चार मैचों का प्रतिबंध लगाया गया।

पढ़ें:- रूट बोले, मैदान में दिए गए बयान पर गेब्रियल को होगा पछतावा

गेब्रियल ने कहा, “दोनों खिलाड़ियों के बीच टिप्पणियों का आदान-प्रदान, मैदान पर एक दबावपूर्ण समय के दौरान हुआ। जब मैंने रूट से कहा, ‘मैं अपने दबाव से बाहर आने की कोशिश कर रहा हूं, तुम क्यों मुझे देखकर मुस्कुरा रहे हो? क्या तुम लड़कों को पसंद करते हो?।”

तेज गेंदबाज ने आगे कहा, “रूट की टिप्पणी को स्टंप्स के माइक द्वारा सुन लिया गया, जिसमें उन्होंने कहा, ‘इसे अपमान के रूप में न लें। समलैंगिक होने में कुछ भी गलत नहीं है।’ फिर मैंने भी उन्हें जवाब दिया और कहा, ‘मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन मेरी तरफ देखकर आपको मुस्कुराना बंद कर देना चाहिए।”