पुणे टी20 में 8 गेंदो पर 22 रन की विस्फोटक पारी खेलने वाले भारतीय तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को बल्लेबाजी करने की अपनी क्षमता पर पूरा विश्वास है। सीरीज के तीसरे टी20 मैच में केएल राहुल और शिखर धवन की शानदार शुरुआत के बाद भारतीय मध्यक्रम लड़खड़ा गया था, जिसके बाद ठाकुर ने मनीष पांडे के साथ मिलकर भारत को 200 का आंकड़ा पार कराया। 275 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने एक चौका और दो छक्के लगाए। ठाकुर भविष्य में टीम के लिए ऐसी और पारियां खेलना चाहते हैं।

प्लेयर ऑफ द मैच रहे ठाकुर ने कहा, “मुझे विश्वास है कि मेरे अंदर बल्लेबाजी करने की क्षमता है और मैं अच्छा अभ्यास कर रहा हूं। अगर मैं नंबर आठ पर इसी तरह का योगदान देता रहा, तो ये टीम के लिए हमेशा अहम होगा। मैं जब बाहर बैठा होता हूं तो खुद को बल्लेबाजी के लिए तैयार करता हूं इससे क्रीज पर आने के बाद मेरे ऊपर कम दबाव रहता है।”

आखिरी तीन ओवरों में हाथ से निकल गया मैच: लसिथ मलिंगा

ठाकुर को ना केवल बल्लेबाजी बल्कि अपनी गेंदबाजी क्षमता पर भी उतना ही भरोसा है। उन्होंने कहा, “मेरे एक्शन के हिसाब से मैं आउटस्विंगर्स करा सकता हूं इसलिए मेरा पूरा ध्यान गेंद को शुरुआत में स्विंग कराने पर रहता है।”

उन्होंने कहा, ” मैंने 2016 के बाद से टीम के साथ काफी समय बिताया है। मुझे यहां घर जैसा माहौल महसूस होता है और अलग सा नहीं लगता। इसलिए मैं कप्तान और टीम मैनेजमेंट को इसका श्रेय देना चाहूंगा।”