शारजील खान और अशरफुल © Getty Images
शारजील खान और अशरफुल © Getty Images

कुख्यात पीएसएल स्पॉट फिक्सिंग ने इस साल की शुरुआत में पाकिस्तानी क्रिकेट को हिलाकर रख दिया था। इस मामले में लिप्त पाए गए क्रिकेटर्स शरजील खान, खालिद लतीफ, नासिर जमशेद, मोहम्मद इरफान, शाहजेब हसन और मोहम्मद नवाज थे। मार्च में पीसीबी ने जब मोहम्मद इरफान को इन आरोपों में दोषी पाया तो उन्हें एक साल के लिए बैन कर दिया था। अगस्त में शरजील को पांच साल के लिए बैन कर दिया गया था। उसके एक महीने बाद, लतीफ को भी पांच साल के लिए बैन कर दिया गया। बहरहाल, नवाज और हसन की सजा की घोषणा की जानी अभी बाकी है। शरजील की अगली सुनवाई लाहौर में गुरुवार को होगी।

साल 2013 में बीपीएल में स्पॉट फिक्सिंग में दोषी पाए गए बांग्लादेशी क्रिकेटर मोहम्मद अशरफुल पर 8 साल का प्रतिबंध लग गया था। उस समय सुनाया गया जस्टिस खाडेमुल इस्लाम का फैसला बताता है, “वह दुनिया में किसी भी आधिकारिक क्रिकेट एक्टीविटी में भाग नहीं ले पाएंगे। उनके प्रतिबंध में 5 साल कम से कम हैं और पांच साल पूरे होने के बाद वह तीन साल के लिए संस्पेंड रहेंगे। हालांकि, इससे दोषमुक्त हुआ जा सकता है अगर वह इन 8 सालों के दौरान आईसीसी, बीसीबी या एसीसी के द्वारा आयोजित भ्रष्टाचार विरोधी शिक्षा या पुनर्वास कार्यक्रम में हिस्सा लेते हैं।” बाद में बैन को पांच साल का कर दिया गया था।

शरजील खान की अपील: शारजील के वकील शाईगन अयाज ने बीसीबी को लेटर भेजा है, जिसमें उन्होंने उस क्लॉज के बारे में पूछा है जिसके अंतर्गत अशरफुल का बैन घटाया गया है। एक ढाका के अधिकारी ने बताया, “अशरफुल के मामले में हालात जरूर अलग हो सकते हैं लेकिन हमने ज्यादा विवरण मांगा है। अगर बीसीबी अशरफुल का विवरण मुहैया नहीं कराता तो हम लंदन के उस वकील यासिन पटेल से विनती करेंगे।”