Shashank Manohar’s exit is relief for Indian cricket: N shrinivasan
शशांक मनोहर (AFP)

शशांक मनोहर के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल से अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद उनके पूर्व सलाहकार एन श्रीनिवासन ने बयान दिया है कि मनोहर ने भारतीय क्रिकेट को काफी नुकसान पहुंचाया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में श्रीनिवासन ने कहा, “जब से बीसीसीआई में नई लीडरशिप आई है, शशांक को पता था कि वो भारत का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकता है और उसे अपनी सुविधा से इस्तेमाल नहीं कर सकता है। उसे पता था कि ऐसी बिल्कुल संभावना नहीं है कि वो आगे बढ़ पाएंगे, इसलिए वो भाग गए।”

नई लीडरशिप से श्रीनिवासन का इशारा भारतीय क्रिकेट बोर्ड के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली की तरफ था। चेन्नई का ये बिजनेसमैन शुरुआत से ही मनोहर का समीक्षक रहा है।

उन्होंने आगे कहा, “मेरा निजी मत ये है कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को काफी नुकसान पहुंचाया है कि उनके जाने से भारतीय क्रिकेट से जुड़ा हर इंसान खुश होगा। उन्होंने खेल में भारत के आर्थिक स्थिति को, आईसीसी में भारत की संभावना को नुकसान पहुंचाया है। वो भारत विरोधी रहे हैं और विश्व क्रिकेट में भारत की अहमियत घटा दी है। उन्होंने बहुत बड़ा नुकसान किया है।”

जेम्स एंडरसन ने दिखाई कोविड काल में क्रिकेट की पहली झलक; ऐसे मनाया जाएगा जश्न

आईसीसी अध्यक्ष बनने से पहले मनोहर बीसीसीआई के अध्यक्ष रह चुके हैं। श्रीनिवासन ने आईसीसी तक पहुंचने के लिए बीसीसीआई का इस्तेमाल करने पर मनोहर की आलोचना की।

उन्होंने कहा, “उनका जाना भारतीय क्रिकेट के लिए राहत है। मनोहर किसी लड़ाई में ज्यादातर टिक नहीं पाते हैं। साल 2015 में, उन्होंने परेशानियों के बीच बीसीसीआई को छोड़ा। अब वो महामारी के बीच में आईसीसी को छोड़ दिया है। निजी तौर पर मैं खुश हूं कि उनके जैसा इंसान आईसीसी में नहीं होगा।”