कोलकाता टेस्ट के दूसरे दिन  बोल्ट की गेंद पर चोटिल हुए थे शिखर  धवन। © Getty Images (File Photo)
कोलकाता टेस्ट के दूसरे दिन बोल्ट की गेंद पर चोटिल हुए थे शिखर धवन। © Getty Images (File Photo)

भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन, जो पिछले काफी समय से टेस्ट में अपनी फॉर्म को लेकर संघर्ष कर रहे हैं, इंदौर टेस्ट से बाहर हो सकते हैं। भारत न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज में उनके सिलेक्शन को लेकर भी लगातार सवाल उठाए जा रहे थे। इसी बीच धवन फैन्स के लिए एक और बुरी खबर आई है, धवन बाएं हाथ के अगूंठे में लगी चोट के कारण इंदौर टेस्ट से बाहर किए जा सकते हैं। इडेन गार्डन पर खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के दौरान ट्रेंट बोल्ट के बाउंसर पर शिखर के बाएं हाथ का अगूंठा चोटिल हो गया था। उस पारी में धवन केवल 17 रन बनाकर ट्रेंट की गेंद पर ही आउट होकर पवेलियन लौट गए थे। भारत Vs न्यूजीलैंड Live Score – 2nd Test match – TEST – Full Scorecard यहां देखें

दिन का खेल खत्म होने के बाद शिखर को बाएं हाथ में काफी दर्द महसूस हुआ जिसके बाद उन्हें डॉक्टर के पास जाना पड़ा। इस मैच में धवन कई बार चोटिल हुए। पिच के असमान उछाल के कारण बोल्ट की बाउंसर सीधे शिखर के कंधे पर जा लगी। टीम के आधिकारिक सूत्र के मुताबिक धवन की एक्स-रे रिपोर्ट अभी नहीं आई है, रिपोर्ट आने के बाद ही तय होगा कि वो अगला मैच खेलेंगे या नहीं। ये भी पढ़ें भारत बनाम न्यूजीलैंड, दूसरा टेस्ट: दूसरी पारी में न्यूजीलैंड को पहला झटका

इडेन की पिच पहले दिन से ही तेज गेंदबाजों के पाले में रही है। भारतीय गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी को भी पिच से काफी मदद मिली है। कीवी गेंदबाजों ने भी स्थिती का पूरा फायदा उठाते हुए 34 रन पर ही भारत के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। भारत अपने शूरूआती विकेट खोकर बैकफुट पर था, तब कप्तान कोहली भी ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर एलबीडबल्यू हो गए। इसके बाद भारतीय पारी की जिम्मेदारी रोहित शर्मा पर आ गई, जिसे रोहित ने बखूबी निभाया। रोहित ने 132 गेंदों पर 2 छक्कों और 9 चौकों की मदद से 82 रनों की शानदार पारी खेली। जिसके बाद इडेन पर रोहित की यादगार पारियों में एक और नाम जुड़ गया।

शिखर के अगले टेस्ट से बाहर होने के बाद उम्मीद की जा रही है कि गौतम गंभीर को क्रीज पर देखने का मौका उनके फैन्स को मिलेगा। हालांकि इस बात की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है पर संभावनाएं काफी ज्यादा है क्योंकि धवन अभी तक खुद को टेस्ट बल्लेबाज साबित करने में नाकाम रहें हैं। वहीं दूसरी ओर टीम में शामिल किए गए गंभीर को अब तक एक भी मौका नहीं मिला है। ऐसे में कोहली की कोशिश यही होगी की आखिरी टेस्ट मैच के पहले गौतम गंभीर को बल्लेबाजी का एक मौका दिया जाए।