Breaking News

    ऋषभ पंत को शिखर धवन ने बताया मैच विजेता, कहा- सैमसन को करना होगा इंतजार 

    ऋषभ पंत को शिखर धवन ने बताया मैच विजेता, कहा- सैमसन को करना होगा इंतजार 

    धवन ने कहा, संजू सैमसन को जो भी अवसर मिला है, वह वास्तव में अच्छा कर रहा है, लेकिन कभी-कभी आपको अपने मौके का इंतजार करना पड़ता है.

    Updated: November 30, 2022 8:14 PM IST | Edited By: Akhilesh Tripathi
    भारत के कार्यवाहक कप्तान शिखर धवन ने बुधवार को कहा कि ऋषभ पंत  ने खुद को ‘मैच विजेता’ के तौर पर साबित किया है और जब वह मुश्किल परिस्थितियों से गुजर रहे है तब  टीम प्रबंधन के पूर्ण समर्थन के हकदार हैं. धवन ने सीमित मौके पर खुद को साबित कर चुके संजू सैमसन को टीम में जगह मिलने के लिए इंतजार करने की सलाह दी. आक्रामक बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले बाएं हाथ के पंत सीमित ओवरों के मैच में एक बार फिर विफल रहे। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय में 16 गेंद में 10 रन बनाये। बारिश के कारण रद्द हुई इस मैच में भारतीय टीम 219 रन पर आउट हो गयी। धवन ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कुल मिलाकर आपको बड़ी तस्वीर देखनी होगी कि आपका मैच विजेता कौन होगा। आप विश्लेषण करते हैं और आपके फैसले उसी पर आधारित होते हैं. पंत ने सीमित ओवरों (टी20 अंतरराष्ट्रीय और एकदिवसीय) के प्रारूपों में अपनी पिछली नौ पारियों में  10, 15, 11, छह, छह तीन, नौ, नौ और 27 रन बनाये है। सैमसन ने इस दौरान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के बाद इस दौरे पर ऑकलैंड में खेले गए पहले एकदिवसीय में 36 रन का योगदान दिया. धवन ने कहा कि सैमसन की तुलना में पंत को टीम में शामिल करने जैसे पेचीदा मामलों में कप्तान की जगह पर होना ‘मुश्किल नहीं’ है. भारतीय कप्तान ने कहा कि निश्चित रूप से संजू सैमसन को जो भी अवसर मिला है, वह वास्तव में अच्छा कर रहा है। लेकिन कभी-कभी आपको अपने मौके का इंतजार करना पड़ता है, क्योंकि दूसरे खिलाड़ी ने अच्छा किया है और हम उसे (पंत को) कौशल के आधार पर जानते हैं कि वह मैच विजेता है। इसलिए जब वह अच्छा नहीं कर रहा होता है तो आपको उसका समर्थन करने की जरूरत होती है. धवन के साथ इस मौके पर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन भी मौजूद थे और उन्होंने कहा कि कौशल से भरी भारतीय टीम के खिलाफ जीत दर्ज करना हमेशा चुनौती भरा रहा है. विलियमसन ने कहा कि भारतीय टीम के पास इतनी प्रतिभा है कि कभी-कभी आपके सामने चुनौतियां होती हैं कि किस विकल्प को आजमायें. उन्होंने कहा कि अंतिम एकादश का चयन कभी-कभी कठिन होता है, यह एक चुनौती है, लेकिन यह उन चीजों में से एक है जो कप्तान के तौर पर आपको फैसला करना होता है। आप एक सामूहिक इकाई के रूप में आगे बढ़ने का प्रयास करते हैं. इनपुट- पीटीआई भाषा
    Advertisement