शिखर धवन © AFP
शिखर धवन © AFP

अक्सर आपने जन्मदिन के दिन किसी भी शख्स को केक काटते देखा होगा, मोमबत्ती बुझाते देखा होगा। लेकिन टीम इंडिया के गब्बर यानी शिखर धवन अपने जन्मदिन के दिन श्रीलंकाई गेंदबाजों के छक्के छुड़ाते नजर आए। धवन ने अपने 32वें जन्मदिन को यादगार बना दिया और शानदार अर्धशतक जड़ा। अपने घरेलू मैदान (फिरोजशाह कोटला) में खेलते हुए धवन ने आउट होने से पहले 91 गेंदों में 67 रनों की पारी खेली। अपनी पारी में धवन ने 5 चौके और 1 छक्का जड़ा।

3 बड़ी उपलब्धियों को किया अपने नाम: अर्धशतक लगाते ही धवन ने 3 बड़ी उपलब्धियों को अपने नाम कर लिया। धवन ने अपने जन्मदिन के दिन 2,000 टेस्ट रन पूरे कर लिए। इसके अलावा फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके 8,000 रन भी पूरे हो गए। हर किसी को उम्मीद थी कि टीम इंडिया का गब्बर अर्धशतक को शतक में बदलकर बड़ा रिकॉर्ड बनाएगा लेकिन धवन और प्रशंसकों की उम्मीदों पर संदाकन ने पारी फेर दिया। संदाकन ने धवन को डिकवेला के हाथों स्टंपिंग करा दिया और धवन 67 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

सेलेक्टर्स की टीम पर श्रीलंका के खेल मंत्री ने उठाए सवाल, 9 खिलाड़ियों को भारत आने से रोका
सेलेक्टर्स की टीम पर श्रीलंका के खेल मंत्री ने उठाए सवाल, 9 खिलाड़ियों को भारत आने से रोका

इसके बावजूद धवन ने अपने जन्मदिन को बेहद खास और यादगार बना दिया है। तीसरे टेस्ट की पहली पारी में धवन का बल्ला खामोश रहा था और वो कुछ खास नहीं कर पाए थे। धवन ने पहली पारी में 35 गेंदों में 23 रन बनाए थे। पहली पारी में फ्लॉप रहने के बाद धवन ने दूसरी पारी में शानदार प्रदर्शन किया और एक समय मुश्किल में दिख रही टीम इंडिया को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया।